दोस्ती की ऐसी दीवानगी कि कब्र से निकाल ली युवक ने दोस्त की लाश

जीवन में खून के रिश्ते इंसान नहीं चुनता. वो जन्म से ही बने हुए होते है. लेकिन मित्रता वो रिश्ता है, जिसे इंसान खुद जन्म देता है. एक इंसान अपने मित्र स्वयं चुनता है. अच्छे मित्र मिलने पर जिंदगी में टेंशन समाप्त हो जाती है तो गलत रिश्ते चुन लेने के उपरांत परेशानियां और बढ़ जाती हैं. मित्रता में लोग हर तरह की परेशानी के समाधान के लिए खड़े हो जाते है. वहीं एक-दूसरे की समस्याओं को सॉल्व करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं. ऐसी ही एक दोस्ती की स्टोरी इक्वेडोर से सुनने को मिली है. जहां कुछ दोस्तों ने अपने साथी की मौत के उपरांत उसका शौक पूरा किया.

साउथ अमेरिका के इक्वेडोर में रहने वाले एरिक सडेनो का देहांत हो गया. लेकिन उसके मित्रों ने उसके पेरेंट्स से इजाजत लेकर एरिक की लाश कब्र के बाहर निकाल ली. जिसके उपरांत लाश को बाइक पर बिठाकर उसके पसंदीदा स्थान की राइड करवाई. सड़क पर जिसने भी इसे देखा उसके होश उड़ गए. लोग हैरान थे कि सड़क पर ये लड़के एक लाश के साथ क्यों घूम रहे हैं? कई लोगों ने जिसकी कुछ तस्वीरें क्लिक की और वीडियो भी बनाया.

जहां इस बात का पता चला है कि तकरीबन 7 लोगों का ग्रुप सड़क पर बाइक से निकला था. इसमें एक बाइक पर आगे बीते 2 लोगों ने बीच में लाश को बैठाल कर घुमाया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ये लोग अपने मरे हुए मित्र की अंतिम विश पूरी कर रहे थे. दरअसल, एरिक को बाइक राइड बहुत पसंद थी. इस वजह से मौत के उपरांत मित्रों ने एरिक को बाइक राइड करवाई. इतना ही नहीं, उन्होंने कब्र पर शराब की बूंदें भी छिड़की.

फिर बाइक में बीच में बिठाकर घुमाया:  इतना ही नहीं 21 वर्ष के एरिक का देहांत बीते सप्ताह हो गया था. उस बीच एरिक के मित्र नहीं आ पाए थे. जब एक सप्ताह के उपरांत वो पहुंचे, तो उन्होने एरिक के पेरेंट्स से परमिशन ली और उसकी लाश को कब्र से बाहर निकाल कर बाइक पर सैर करवाई. इस केस की सूचना जब पुलिस को हुई, तो उन्होंने इसकी कार्रवाई शुरू कर दी. उनके मुतानिक, इस तरह का ये पहला केस देखने को मिला है. इससे पहले ऐसी घटना कभी नहीं हुई थी. कोविड काल में लाश को निकालकर इस तरह पब्लिकली घूमना स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं कहा जा रहा है. हालांकि, अभी तक इस केस में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

साउथ अफ्रीका के गांधी की पुण्यतिथि पर नितिन गडकरी और ओम बिरला ने दी श्रद्धांजलि

जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व मृदा दिवस

फ्रांस सरकार ने यूके के साथ संयुक्त चैनल सीमा पर निगरानी को खारिज कर दिया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -