सुब्रह्मण्यम स्वामी का बड़ा बयान, 'नेहरु ने ठुकराया था UN की स्थाई सदस्यता का प्रस्ताव'

नई दिल्ली : भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने दावा किया है कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु ने 1950 में संयुक्त राष्ट्र में सुरक्षा परिषद की स्थाई सदस्यता स्वीकार नहीं की थी. उन्होने अपने ट्वीट में लिखा है कि अगर आप नेहरु म्यूजियम जाएं तो विजयलक्ष्मी पंडित की फाइल नंबर 59 और 60 में जवाहर लाल नेहरु के 1945-50 में संयुक्त राष्ट्र को लिखे खतों को जरूर पड़े.

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि 1950 में अमेरिका ने चीन की जगह भारत को संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद की स्थाई सदस्यता वीटो पावर के साथ देने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन जवाहर लाल नेहरु ने इसे स्वीकार करने से इंकार कर दिया था और लोकसभा में गलत बयान दिया था.

सुब्रह्मण्यम स्वामी के इस दावे के बाद सियासी गलियारों में हलचल मच सकती है क्यों कि कांग्रेस इस दावे के बाद छुप नहीं बैठने वाली.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -