नेताजी की मौत से जुड़ी दर्जन फाइलें अब भी ममता सरकार के पास

Sep 21 2015 02:24 PM
नेताजी की मौत से जुड़ी दर्जन फाइलें अब भी ममता सरकार के पास

कोलकाता ​: पश्चि‍म बंगाल की सरकार ने पिछले शुक्रवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़ी 64 फाइलें सार्वजनिक की हैं, लेकिन बताया जाता है कि नेताजी से जुड़ी करीब एक दर्जन फाइलें अब भी पश्चि‍म बंगाल सरकार ने सार्वजनिक नहीं कीं हैं. नेताजी के ऊपर शोध कर रहे विशेषज्ञों का मानना है कि बोस की मौत और उससे जुड़े रहस्यों को सियासी रंग दिया जा रहा है और ममता बनर्जी सरकार ने अगले साल होने वाले चुनाव के चलते कुछ फाइलों को सार्वजनिक कर राजनीतिक खेल खेला है. जबकि एक दर्जन से अधि‍क ऐसी फाइलें सरकार ने अभी तक सार्वजनिक नहीं की हैं जिनसे कई बड़े खुलासे हो सकते हैं. शोध कर रहे विद्वान मानते हैं कि तृणमूल के कई सांसद नेताजी के परिवार से जुड़े हुए हैं, ऐसे में सच्चाई को अभी भी रहस्य बनाकर ही रखा गया है.

नेताजी पर 3 दशक से शोध कर रहे जयंतो चौधरी का कहना है कि 'इसके कई कारण हो सकते हैं. इसके पीछे राजनीतिक कारण हैं. नेताजी से जुड़ी कई फाइलें अभी भी गायब हैं. 1941 की जनवरी में कोलकाता से उनका गायब होना और INA ट्रांजिट कैंप की दास्तान जहां अंग्रेजों ने सदस्यों की हत्या की थी.'

जयंतो का कहना है कि 'इसके पीछे राजनीतिक कारण हो सकते हैं, क्योंकि संभव है क‍ि फाइलों के सार्वजनिक होने से कई देशों से अंतरराष्ट्रीय संबंध खराब होने का भी दर है. उन्होने बताया कि 1937 मेन नेताजी द्वारा शादी करने की बात पूरी तरह गलत है क्योंकि 1939 में उन्होंने पासपोर्ट के लिए दिए गए अपने आवेदन में खुद को अविवाहित बताया था.