गांधी जयंती पर रिलीज हुआ साइलेंट फिल्म का दमदार टीजर

2 अक्टूबर को भारत अपने राष्ट्रपिता, महात्मा गांधी की जयंती सेलिब्रेट करता है। आज जब जनता गांधी जयंती को सेलिब्रेट कर रही है उसी बीच एक नई मूवी का एलान हुआ है, जिसका गांधी कनेक्शन बहुत दिलचस्प है। फिल्म का टाइटल है 'गांधी टॉक्स' और इसके डायरेक्टर हैं किशोर पांडुरंग बेलेकर। 'गांधी टॉक्स' को एक बहुत दमदार टीजर के साथ अनाउंस भी कर दिया है और जिसमे कई ऐसी चीजें हैं, जिससे एक सिनेमा फैन के दिमाग को भरपूर खाद-पानी मिलने वाला है। सबसे पहली चीज तो है 'गांधी टॉक्स' की दमदार कास्ट। टीजर में अभिनय स्कूल कहे जाने वाले विजय सेतुपति और अरविन्द स्वामी तो हैं ही, साथ में अपने टैलेंट से क्रिटिक्स को खूब इम्प्रेस कर चुकीं यंग स्टार अदिति राव हैदरी भी हैं।

इन तीनों के साथ मराठी सिनेमा में बड़ी पहचान रखने वाले सिद्धार्थ जाधव भी एक थे। इस सॉलिड स्टारकास्ट के साथ किशोर बेलेकर जो कहानी ला रहे हैं वो एक डार्क कॉमेडी है, ऐसी जानकारी टीजर में दी जा चुकी है।  

 

साइलेंट फिल्म, दमदार कहानी: इस मूवी का नाम भले 'गांधी टॉक्स' हो, लेकिन इसमें कोई भी टॉकिंग यानी वार्तालाप नहीं होने वाली क्योंकि ये एक साइलेंट मूवी है। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के सबसे बड़े नायकों में से एक महात्मा गांधी का जीवन और उनके सिद्धांत सिर्फ एक इंसान ही नहीं, बल्कि समाज और देश को भी बेहतरी का रास्ता दिखाने वाले मन्त्र के माफिक है। लेकिन एक बड़ी विडंबना ये है कि दौर बदलने के साथ गांधी की शिक्षाओं से तो लोगों ने मुंह फेर लिया, लेकिन नोटों पर छपे गांधी को अपना मार्गदर्शक बन गया। 'गांधी टॉक्स' की कहानी में एक दिलचस्प सिम्बल ये है कि विजय सेतुपति के किरदार के साथ टीजर में जो बंदर नजर आ रहा है वो खिलौने वाला है, जो बाजा बजाता है। टीजर में सबसे अधिक पैसे भी उन्हीं के सामने दिखाई दे रहे है और वो उन्हें गुपचुप तरीके से खिलौने में छुपाते दिख रहे हैं। यानी कहानी शायद कुछ ऐसी है कि सेतुपति का किरदार पैसे के चक्कर में इन तीन किरदारों से उलझने वाला है, या इन्हें उलझाने वाला कहा जा रहा है। शायद 'गांधी टॉक्स' में विजय सेतुपति नेगेटिव रोल में हैं। 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -