इस राज्य में बढ़ाई गई सख्ती, बाहर से आने वाले हर व्यक्ति की होगी कोरोना जांच

पटना: बिहार सरकार ने दीपावली एवं छठ पर्वों के चलते दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोगों के लिए कोरोना टेस्ट जरुरी कर दिया है। यदि तहकीकात में कोई भी यात्री संक्रमित पाया जाता है तो उसे क्वारंटीन किया जाएगा। रैंडम जांच के इंतजाम रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व प्रदेश के प्रवेश मार्ग स्थित चेकपोस्ट पर की जाएगी। इसके अतिरिक्त बिहार पहुंचने वाले यात्री जो वैक्सीनेटेड नहीं होंगे तो सरकार उनके टीकाकरण के भी इंतजाम करेगी। सरकार ने त्यौहारों के सीजन में और ज्यादा सतर्क रहने की जरुरत को रेखांकित किया है।

वही संक्रमित प्राप्त होने पर RTPCR जांच भी कराई जाएगी। इसमें भी संक्रमित मिलने पर लोगों को तत्काल क्वारंटीन किया जाएगा। डॉक्टर्स की सलाह पर संक्रमित को होम आइसोलेशन में रहने का निर्देश दिया जाएगा। हालत गंभीर होने पर मरीज को हॉस्पिटल में एडमिट कराया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने इसको लेकर पूरी तैयारी आरम्भ कर दी है। 

साथ ही प्रदेश में दूसरे राज्यों से आने वालों की जांच के लिए तीन सौ से ज्यादा मेडिकल टीमें लगाई जाएंगी। एक टीम में एक एएनएम, एक डाटा एंट्री ऑपरेटर व एक लैब टेक्नीशियन सम्मिलित होंगे। यात्रियों द्वारा 72 घंटे पूर्व की RTPCR जांच रिपोर्ट दिखाने पर उनकी जांच नहीं की जाएगी। त्यौहार के सीजन को देखते हुए कोरोना जांच अभियान 20 नवंबर तक चलेगा। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में RTPCR जांच की सुविधा उपलब्ध है। 

पाकिस्तान को गुप्त सूचनाएं भेजने वाला BSF का जवान मोहम्मद शहजाद गिरफ्तार

उत्तरप्रदेश में अरविंद केजरीवाल के दौरे पर लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह कल प्रेस कांफ्रेंस को करेंगे संबोधित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -