इंदौर: अचानक सख्त हुए लॉकडाउन से घबराये लोग, रात में पहुंचे मंडी

इंदौर: मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण अब कम हो रहा है। ऐसा होने के बावजूद ज्यादा छूट नहीं दी रही है क्योंकि ऐसा होने से हालात बिगड़ने की आशंका है। इसी के चलते अब जनता कर्फ्यू को और भी सख्त बनाने का फैसला किया गया है। ऐसे में इंदौर में सख्ती के तहत किराना, ग्रोसरी की दुकानों और फल-सब्जी की बिक्री पर 28 मई तक पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। यह निर्देश बीते कल जारी हुए हैं। निर्देश जारी होते ही इंदौर के लोग घबरा गए और रात में ही लोग सब्जी खरीदने मंडी पहुंच गए। बीते कल मंडी में जमकर भीड़ नजर आई और इस बीच लोगों ने सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेनसिंग का भी पालन नहीं किया।

लोगो ने जमकर सब्जियों की खरीददारी की, लेकिन तभी पुलिस ने मोर्चा संभाला और मंडी पहुंच रहे लोगों को भगाया। आप सभी को बता दें कि मध्यप्रदेश के इंदौर में जिला प्रशासन ने पुराने आदेश को संशोधित करते हुए अब नया आदेश जारी कर दिया। इस आदेश में 21 मई से लेकर 28 मई तक सभी किराना और ग्रॉसरी की दुकानें बंद रखने के आदेश दे दिए गए। केवल यही नहीं बल्कि फल और सब्जी भी अब 10 दिनों तक नहीं मिलेंगी। इसके अलावा इंदौर जिले की सभी थोक और खेरची निजी किराना दुकानें 28 मई तक बंद रहेंगी। वही चोइथराम और निरंजनपुर फल व सब्जी मंडियाें के अलावा जिले के सभी हाट-बाजार तत्काल प्रभाव से बंद रहेंगे।

बीते कल आदेश जारी करते हुए कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा है कि ''इंदौर में कोरोना संक्रमण की स्थिति में धीरे धीरे सुधार हो रहा है, वही कोरोना की चेन तोड़ने के लिए लॉक डाउन को और सख्त बनाने का फैसला किया गया है, हालांकि ऑनलाइन राशन सप्लाई करने वाली चेन चालू रहेगी। एसडीएम व स्वास्थ्य अमले को निर्देशित किया गया है कि वे क्षेत्रों में अधिक संक्रमित क्षेत्रों को चिन्हित करें, ताकि उन क्षेत्रों को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर अग्रिम कार्रवाई की जा सके।''

बस एक कॉल पर मिलेगी कोरोना सम्बंधित हर मदद, आयुष मंत्रालय ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

सॉरी पापा, मैंने आपकी बात नही सुनी... बोलकर फंदे से झूल गई विवाहिता

जिस यहूदी को अरबों ने पीट-पीटकर मार डाला, उसी की किडनी से बची एक अरबी महिला की जिंदगी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -