जरूरत पड़ी तो सोशल मीडिया मंचों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी : सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री

Mar 21 2018 07:21 PM

भापजा नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोशल मीडिया का चुनाव के दौरान दुरूपयोग वाले मुद्दे को लेते हुए आज कहा कि फेसबुक समेत अन्‍य सोशल मीडिया का दुरुपयोग अगर चुनावों को प्रभावित करने के लिए किया गया तो इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा यदि जरूरत पड़ी तो फेसबुक जैसे सोशल मीडिया मंचों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. सरकार पूरी तरह से मीडिया, बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और साथ ही सोशल मीडिया पर विचारों के आदान- प्रदान का समर्थन करती है.

चुनाव के दौरान सोशल मीडिया मंचों का  दुरूपयोग किया जाना असंगत है. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस मौके कांग्रेस पर वार करते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने 2019 के चुनाव प्रचार के लिए ब्रिटिश एजेंसी कैंब्रिज एनालिटिका को जिम्मेदारी सौंपी है जिस पर कई गंभीर आरोप लगे हैं. मीडिया के एक सेक्शन द्वारा इसे कांग्रेस के 'ब्रह्मास्त्र' के तौर पर बताया जा रहा है. केंद्रीय मंत्री ने दावा किया कि जिस एजेंसी को कांग्रेस पार्टी ने हायर किया है उस पर घूस लेने, सेक्स वर्कर्स के जरिए राजनेताओं को फंसाने और फेसबुक से डाटा चुराने जैसे गंभीर आरोप लगे हैं.उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपनी सोशल मीडिया प्रोफाइल में कैंब्रिज एनालिटिका की भूमिका स्पष्ट करनी चाहिए.

बता दें कि कैंब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक के 5 करोड़ सदस्‍यों से जुड़ी जानकारियों का दुरुपयोग करने आरोप लगा है. इसके बाद कंपनी ने अपने चीफ एक्जीक्यूटिव अलेक्जेंडर निक्स को सस्पेंड कर दिया है. कैंब्रिज एनालिटिका वहीं कंपनी है जिसने 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव के दौरान डोनाल्ड ट्रंप की कैंपेनिंग की थी.

बीजेपी शासित राज्यों में सौ गुना ज्यादा अवैध खनन

दिल्ली को सीलिंग से फ़िलहाल राहत नहीं

राज्य सभा की दावेदारी में अक्षय अव्वल