तनाव के भी हैं फायदे, लेकिन जब आप इसे कर पाएं मैनेज

तनाव के भी हैं फायदे, लेकिन जब आप इसे कर पाएं मैनेज

तनाव को कौन अच्छा मान सकता है. ये बस आपको तकलीफ ही देता है, अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो आपको बता दें कि इसके कुछ फायदे भी होते हैं. अमेरिका में हुए एक ताजा शोध में यह बात सामने आई है कि तनाव (Stress effect) और चिंता दोनों ही हमारे लिए फायदेमंद हैं. ऐसा तभी होगा जब आप इसे मैनेज कर पाएंगे. तो चलिए जानते हैं ये किस तरह से ये आपके लिए फायदेमंद है. 

क्‍या कहता है शोध  
अमेरिका में हाल ही में हुए एक शोध में मनोवैज्ञानिकों ने यह दावा किया है कि अगर तनाव और चिंता, संतुलित स्‍तर पर रहें तो यह हमारे लिए लाभदायक हो सकती हैं. शोधकर्ताओं का मानना है कि ज्‍यादातर लोगों को तनाव तभी होता है जब वे अपनी क्षमता के अंतिम किनारे पर होते हैं. इसके बाद आपका तनाव आपको बेहतर करने के लिए प्रेरित करता हैं. वहीं अगर आप इसे संभाल नहीं पाते हैं तो यह आपके लिए नकारात्‍मक परिणाम दे सकता है.

तनाव का तनाव
अमेरिका की मनोवैज्ञानिक एवं अध्ययनकर्ता लिसा डामोर का कहना है कि ज्‍यादातर अमेरिकी अब तनाव (Stress effect) के बारे में सोचकर ही तनावग्रस्त होने लगते हैं. इसे सोचते हुए जब तक वे किसी मनोचिकित्‍सक तक पहुंचते हैं, तब तक वे तनाव और चिंता का स्‍तर इतना अधिक बढ़ा चुके होते हैं कि वह उनके स्‍वास्‍थ्‍य पर नकारात्‍मक असर डालने लगता है. जबकि यह हमें हमारी कम्‍फर्ट जोन से निकाल कर नई चुनौतियों के लिए तैयार करता है.

तनाव के फायदे
संतुलित और छोटी अवधि का तनाव सेहतमंद मस्तिष्क कोशिकाओं का निर्माण करता है और आपकी सजगता को बढ़ाता है. इससे मानसिक क्षमताओं में वृद्धि होती है. यह मस्तिष्क में एड्रिकनेलिन निर्माण में सहायक है, जिससे आपकी ऊर्जा का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है. इस स्थिंति में आप अधिक ऊर्जावान होते हैं. साथ ही यह हमारे इम्यून सिस्टम को सक्रिय कर अवांछित तत्वों से भी हमारे शरीर की रक्षा करता है.

पैरों में नस चढ़ने की समस्या से ऐसे पाएं निजात, दर्द होगा दूर

दवाई खाने के बाद होता है मुँह कड़वा तो बर्फ का टुकड़ा करेगा काम

मानसून में हो रहे पिम्पल तो घरेलु तरीके से हो सकते हैं दूर