अजीबोगरीब! अपनी ही मौत से चुनाव जीत गया मृतक शख्स 

पटना: बुधवार को जमुई में हुए पंचायत चुनाव में एक मृत शख्स ने अपनी ही मौत से उत्पन्न हुई सहानुभूति की लहर पर सवार होकर जीत प्राप्त की। पटना से तकरीबन 200 किमी की दूरी पर मौजूद इस गरीब जिले में इस अजीबोगरीब घटना का पता तब चला, जब अफसर 24 नवंबर को हुए चुनाव में जीतने वाले प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र सौंप रहे थे। 

खैरा बीडीओ राघवेंद्र त्रिपाठी ने हैरानी के साथ बताया कि खैरा प्रखंड के अंतर्गत आने वाले दीपकरहार गांव के वार्ड नं 2 से जीत दर्ज करने वाले सोहन मुर्मू का कहीं पता नहीं चला। पूछताछ करने पर पता चला कि वोटिंग से एक पखवाड़े से पहले ही 6 नवंबर को मुर्मू की मृत्यु हो गई थी। दीपकारहार झारखंड के साथ प्रदेश की सीमा के साथ लगता एक दूरदराज का गांव है। इस गांव की मुख्य तौर पर आदिवासी आबादी है। पुराने निवासियों को अब भी याद है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा प्रकाशित एक लिस्ट के मुताबिक, यह गांव 1990 के दशक में प्रथम बार नक्सल गतिविधियों की चपेट में आया था। तत्पश्चात, यह गांव अति-वामपंथी उग्रवाद से सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ था।  

वही BDO ने कहा कि अपने विपक्षी को 28 मतों से पराजित करने वाले मुर्मू के परिवार के सदस्यों ने बताया कि उनकी अंतिम इच्छा थी कि वह चुनाव जीत जाएं। इसलिए वे चुप रहे। गांव के किसी भी निवासी ने हमें खबर भी नहीं दी। ऐसा लगता है कि सभी ने उनकी आखिरी इच्छा का सम्मान करने के लिए उनके पक्ष में वोटिंग की। त्रिपाठी ने कहा कि विजेता का सर्टिफिकेट किसी को जारी नहीं किया जा सकता है। हम इस अनुरोध के साथ प्रदेश चुनाव को लिखने जा रहे हैं कि संबंधित वार्ड के चुनाव को कैंसिल कर दिया जाए तथा नए सिरे से चुनाव कराया जाए।

CM योगी ने किया एथनॉल प्लांट का शिलान्यास, किसानों की तरक्की होगी, रोज़गार भी मिलेगा

मोदी सरकार ने मानी किसानों की ये मांग, कृषि मंत्री बोले- बड़ा दिल दिखाते हुए घर लौटें किसान

कुपोषण के मामले में UP-MP और बिहार सबसे आगे.., सिब्बल बोले- यहाँ तो कांग्रेस की सरकार नहीं

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -