इस मंदिर में भागे हुए प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा करते हैं महादेव, कोई नहीं लगा सकता हाथ

इस मंदिर में भागे हुए प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा करते हैं महादेव, कोई नहीं लगा सकता हाथ

आज के समय में कई ऐसे कपल है जिनकी शादी के लिए परिवार राजी नहीं होता है और इसी कारण से वह भाग जाते हैं। ऐसे में ऐसे कपल का साथ कोई नहीं देता लेकिन हाँ आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जहाँ प्रेमी जोड़ो को शरण दी जाती है। जी हाँ, भारत में एक ऐसा है मंदिर है जिसमे भागे हुए प्रेमी जोड़ो को शरण मिलती है।

जी दरअसल यह मंदिर शंगचूल महादेव मंदिर में है। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू स्थित शांघड़ गांव में मौजूद महाभारत काल के शंगचूल महादेव मंदिर में घर से भागे हुए प्रेमी जोड़ों को शरण मिलती है। जी हाँ, कहते हैं इस मंदिर में प्रेमी जोड़ो के आलावा किसी को भी शरण नहीं दी जाती है और यहाँ आने के बाद प्रेमी जोड़े खुद को सुरक्षित समझ लेते हैं। जी दरअसल शंगचूल महादेव मंदिर का सिमा क्षेत्र करीब 100 बीघा में फैला हुआ है और जब इस सीमा में कोई प्रेमी जोड़ा पहुँचता है उसे महादेव की शरण में आया हुआ कहा जाता है। कहते हैं प्रेमी जोड़े जब तक मंदिर की सीमा में रहते है तब तक उनके परिजन उन्हें कुछ नहीं कह सकते है और पुलिस भी इस जोड़े को कुछ नहीं कह सकती।

कहा जाता है इस मंदिर के पंडित उस जोड़े की खूब खातिरदारी करते है और मंदिर को लेकर कहा जाता है कि ''अज्ञातवास के समय पांडव यहां कुछ समय के लिए ठहरे थे और उनका पीछा करते हुए कौरव भी वहां पहुंच गए। तब शंगचूल महादेव ने कौरवों को रोका और कहा कि ये मेरा क्षेत्र है और जो भी मेरी शरण में आएगा उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। महादेव के डर से कौरव वहां से वापस लौट गए तब से लेकर अब तक जब भी समाज से ठुकराया हुआ या फिर कोई प्रेमी जोड़ा घर से भागकर महादेव की शरण में आता है तो स्वयं महादेव उनकी रक्षा करते है।'' इसी वजह से यहाँ प्रेमी जोड़े अपने आपको सुरक्षित महसूस करते हैं।

मोबाइल-इंटरनेट से बढ़ रहीं दूरियों को कम करने के लिए इस गांव के लोगों ने खोजा अनोखा तरीका

दुल्हन ने अपनी शादी में मेहमानों से माँगा कुछ ऐसा, जिसे खुद की बहन ही नहीं हुई शामिल

सेकेंड हैंड सूटकेस ने इस शख्स की खोली किस्मत, बैग खुलते ही मिला कुछ ऐसा