खून लगाकर गढ़ी कहानी, महिला के घर मिला

Apr 15 2015 01:34 AM
खून लगाकर गढ़ी कहानी, महिला के घर मिला
style="font-family: sans-serif; font-size: 16px; line-height: 20.7999992370605px; text-align: justify; background-color: rgb(249, 249, 249);">मध्यप्रदेश/धार : पुलिस ने उस व्यक्ति को ढूंढने में सफलता प्राप्त कर ली है जो 8 अप्रैल से लापता हो गया था। पुलिस के अनुसार उसे मोबाइल लोकेशन लोकेशन से ट्रेस कर पकड़ा गया है। बताया गया है कि लापता व्यक्ति ने अपने अपहरण और हत्या की कहानी गढ़ने के लिये बकरे के खून का इस्तेमाल किया था परंतु पुलिस ने छानबीन करते हुये उसे उस महिला के घर से पकड़ा जिससे उसकी दोस्ती पिछले एक वर्ष से थी। पुलिस ने बताया कि सोनगढ़ निवासी राधेश्याम पिता अंबाराम की दोस्ती जगदलपुर के समीप रहने वाली महिला से पिछले एक वर्ष से थी। वह हर दिन ही महिलो फोन पर बातचीत करता था।
 
पुलिस के अनुसार महिला की एक लड़की का विवाह हो चुका है। राधेश्याम ने दोस्ती को मजबूत करने के उद्देश्य से महिला के पास रहने का मन बनाया था, चुंकि परिजन उसे इस बात की इजाजत नहीं देते इसलिये उसने अपने अपहरण और हत्या करने की कहानी गढ़ी। इसके लिये वह राजगढ़ स्थित एक कसाई की दुकान पर पहुंचा और बकरे का खून यह कहकर लाया कि उसके घर की गाय दूध नहीं दे रही है, बकरे का खून दवाई में मिलाकर पिलायेंगे तो वह दूध देने लगेगी।
 
पुलिस ने बताया कि इसके बाद राधेश्याम घर से खेत जाने का कहकर साइकिल से निकाला था लेकिन इसके पहले उसने अपने बिस्तर पर खून से निशान बनाये और लोहे के बक्खर को खून से लथपथ कर दिया। राधेश्याम ने अपने कृत्य से यह बताने का प्रयास किया कि बदमाश मोटर चोरी करने के लिये आये थे और उसकी हत्या कर लाश साथ ले गये। पकड़े गये राधेश्याम ने पुलिस को बताया कि वह साइकिल से राजगढ़ गया और वहां एक पेट्रोल पंप के पास साइकिल छुपा दी इसके बाद वह बस से इंदौर भोपाल होते हुये छत्तीसगढ़ के जगदलपुर पहुंच गया।