इन हेल्थ टिप्स को अपनाकर सार्वजनिक तौर पर रह सकते है स्वस्थ

इन हेल्थ टिप्स को अपनाकर सार्वजनिक तौर पर रह सकते है स्वस्थ

सार्वजनिक तौर पर कही भी जाते समय हमें अपने स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखने की आवश्यकता है. क्योकि बहुत से लोग अनियमित जीवन जीते है, जिससे उनके शरीर में कई प्रकार के बदलाव देखने को मिल सकते है. इसी सार्वजनिक तौर पर स्वस्थ रहने के लिए इन बातों का रखे ख्याल:

एक्सरसाइज की आदत डालें : आज की तेज रफ्तार जिंदगी से तालमेल बैठाने के लिए स्वस्थ और ऊर्जा से भरपूर होना जरूरी है. इसके लिए एक्सरसाइज से बेहतर क्या हो सकता है. इससे न सिर्फ शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने में सहायता मिलती है, बल्कि मानसिक शांति भी प्राप्त होती है. ‘लैनसेट’ में प्रकाशित एक खबर के अनुसार हर दिन केवल 15 मिनट की एक्सरसाइज भी आपके जीवनकाल को 3 साल बढ़ा सकती है.

भोजन रखे निरोग : एक पुरानी कहावत है कि भोजन को ही दवा बना लें. अगर आप नियमित रूप से संतुलित और पोषक भोजन का सेवन करेंगे तो न केवल बीमारियों से बचेंगे, बल्कि स्वस्थ और ऊर्जावान भी बने रहेंगे. अपने भोजन में फल, सब्जियों, साबुत अनाज और तरल पदार्थो को उचित मात्र में शामिल करें. दिन में तीन बार मेगा मील खाने की बजाए छह बार मिनी मील खाएं.

तनाव भगाएं :  करियर और परिवार की जिम्मेदारियां, काम का बोझ, वक्त की कमी, रिश्तों के बीच बढ़ती दूरियां, अकेलापन और महत्वाकांक्षाएं, आज इन स्थितियों का सामना अधिकतर लोग कर रहे हैं. इससे उनके जीवन में तनाव का स्तर काफी बढ़ गया है. इसका नकारात्मक प्रभाव उनके शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य तथा जीवन की गुणवत्ता पर पड़ रहा है. इसलिए जरूरी है कि नया साल इस संकल्प के साथ शुरू करें कि छोटी-छोटी बातों पर तनाव नहीं पालेंगे.

तनाव के नकारात्मक प्रभाव : तनाव के कारण शरीर में कई हार्मोनों का स्तर बढ़ जाता है, जिनमें एड्रीनलीन और कार्टिसोल प्रमुख हैं. इनकी वजह से दिल का तेजी से धड़कना, पाचन क्रिया का मंद पड़ जाना, रक्त का प्रवाह प्रभावित होना, नर्वस सिस्टम की कार्यप्रणाली गड़बड़ा जाना और इम्यून सिस्टम कमजोर होने जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं.

जानलेवा मोटापे से बचें : मोटापे का अर्थ है शरीर में आवश्यकता से अधिक चर्बी बढ़ने से शरीर का बेडौल हो जाना. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मोटापे को स्वास्थ्य के लिए सर्वाधिक 10 खतरों में शामिल किया है. आंकड़ों के अनुसार 10 प्रतिशत आबादी मोटापे की शिकार है.

18-19 मई को WHA की अहम बैठक, अध्यक्ष भारत से ताइवान को उम्मीद

क्या है राज्य में लॉकडाउन समाप्त करने को लेकर सीएम बिरेन सिंह की योजना

गुजरात में अब तक का सबसे बड़ा ​कोरोना संक्रमण का आंकड़ा आया सामने