जेएनयू हिंसा: पुलिस की जांच में अहम तथ्य आए सामने, इन छात्रों को भेजा नोटिस

जेएनयू हिंसा: पुलिस की जांच में अहम तथ्य आए सामने, इन छात्रों को भेजा नोटिस

जेएनयू हिंसा का मामला राजनीतिक जगत में तुल पकड़ता जा रहा है. जेएनयू हिंसा को लेकर पुलिस अपनी जांच में जुटी हुई है. लेकिन कुछ राजनीतिक पा​र्टीया कुलपति को इसका जिम्मेदार मान रही है. वही दूसरी और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में 5 जनवरी की शाम को हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने जांच की कड़ी में छात्र चुनचुन कुमार और डोलन सामंता को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. वहीं, फॉरेंसिक टीम भी बुधवार को जेएनयू हिंसा की जांच के लिए पहुंचेगी. इसके अलावा, दिल्ली पुलिस हिंसा में आरोपित आकाश अवस्थी, रोहित शाह और कोमल शर्मा की तलाश में जुटी हुई है. 

नीतीश कुमार का चुनाव प्लान धराशाही, नया सीएम को लेकर बड़ा पेच फंसा

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इससे पहले जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) हिंसा मामले में क्राइम ब्रांच की एसआइटी ने मंगलवार को जेएनयू पहुंचकर सुचेता तालुकदार और प्रिया रंजन कुमार से करीब दो घंटे तक पूछताछ की. दोनों से अलग-अलग पूछताछ के दौरान एसआइटी ने उन्हें वीडियो फुटेज और फोटो दिखाकर उन छात्रों की पहचान करने को कहा जो ¨हसा में शामिल दिखाई दे रहे हैं. हालांकि फुटेज धुंधली होने के कारण इन्होंने किसी को भी पहचानने से इन्कार कर दिया. सुचेता ने डेढ़ पन्ने में अपना लिखित बयान भी दर्ज कराया. इससे पहले एसआइटी ने सोमवार को जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आईशी घोष, वास्कर विजय व पंकज मिश्र से भी पूछताछ की थी. ये सभी वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़े हैं.

मायावती ने जनकल्याणकारी दिवस पर भाजपा को घेरा, कहा-अर्थव्यवस्था खराब हो गई है, तनाव और भय....

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शुक्रवार को एसआइटी ने जेएनयू हिंसा मामले में वामपंथी छात्र संगठनों के सात व दक्षिणपंथी छात्र संगठनों के दो छात्रों की तस्वीरें जारी कर दावा किया था कि ये लोग कैंपस में पांच जनवरी को हुई हिंसा में शामिल थे. हिंसा में दो गुटों के कुल 34 छात्र घायल हुए थे. पहले एसआइटी ने तीन छात्रओं को जेएनयू में और छात्रों से कमला मार्केट स्थित क्राइम ब्रांच के कार्यालय में पूछताछ करने का निर्णय किया था. लेकिन, अब सभी से जेएनयू में ही पूछताछ की जा रही है.वहीं हिंसा में घायल चार छात्रों से भी एसआइटी ने मंगलवार को पूछताछ की और उनसेजानकारी ली.

दिल्ली में तेजस्वी यादव ने कांग्रेस से मिलाया हाथ, सीएम योगी को बताया जहर बोने की कोशिश करने वाला...

लालू प्रसाद यादव के दो दिग्गज नेता आपस में भिड़े, एक-दूसरे पर जमकर हमला बोला

त्यौहारी भोज पर तय होगा बिहार का चुनावी भविष्य, नारायण सिंह ने सभी दिग्गज नेताओं को बुलावा भेजा