+

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ का फूटा गुस्सा, कहा-राजनीतिक हत्याएं प्रजातंत्र के लिए शर्म...

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ का फूटा गुस्सा, कहा-राजनीतिक हत्याएं प्रजातंत्र के लिए शर्म...

हाल ही में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि बड़ी पीड़ा होती है जब कहीं पढ़ता हूं कि कत्ल हो गया है. राजनीतिक हत्याएं प्रजातंत्र के लिए शर्म की बात है. प्रजातंत्र का मतलब हिंसा नहीं होती, शांति होती है, सह-अस्तित्व होता है. राजनीतिक पार्टियां कभी भी एक दूसरे की दुश्मन नहीं हो सकतीं. हां, यह आपस में प्रतियोगी हो सकती हैं, विरोधी हो सकती हैं.

पाकिस्तान: करतारपुर साहिब दर्शन करने गई सिख युवती तीन दिन बाद बरामद, 4 पाकिस्तानी गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राज्यपाल जगदीप धनखड़ मंगलवार की सुबह शिवपुर स्थित एजेसी बोस इंडियन बोटानिकल गार्डेन में प्रातः कालीन भ्रमण को पहुंचे थे. आगे उन्होंने कहा कि मैं राज्य के लोगों से अपील करना चाहूंगा कि बंगाल में शांति बनाए रखने के लिए आगे आएं, मार्च निकालें. मैं राज्य के लोगों से कहना चाहता हूं कि हिंसा से खुद को दूर रखें.

चंद्रशेखर आजाद के पोते ने शुरू किया धरना, इस वजह से दिखे बहुत नाराज

अपने बयान में राज्यपाल ने कहा, मैं बंगाल में शांति के लिए प्रार्थना करता हूं. बंगाल एक शांतिपूर्ण राज्य बने. हमें हिंसा का त्याग करना चाहिए. राज्य में हिंसा नहीं होनी चाहिए, हिंसा से किसी भी राज्य की छवि धूमिल होती है. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के इस अवसर पर हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि हम आपस में शांति के साथ रहेंगे. हम हिंसा का समर्थन नहीं करेंगे.

प्रियंका वाड्रा का ट्वीट, कहा- रेलवे को भी बेचना शुरू कर देगी भाजपा सरकार, क्योंकि इनकी स्किल....

इसके अलावा राज्यपाल ने कहा, आपस में मतभेद हो सकते हैं, यह सबका अधिकार भी है, लेकिन हिंसा नहीं होनी चाहिए. जब कभी भी मैं हिंसा की खबरों को सुनता हूं बंगाल के राज्यपाल के नाते मेरा ह्रदय लहूलुहान हो जाता है‌. मैं लोगों से अपील करना चाहूंगा महात्मा के आदर्शों को सम्मान करें. मैं लोगों से यह भी कहना चाहूंगा कि प्रत्येक व्यक्ति महात्मा को प्रत्येक दिन स्मरण करें. किसी भी हालत में हम हिंसा से दूर रहें , हिंसा से बचें. 

'पीएम मोदी के उद्योगपति मित्रों को दी जा रही है आदिवासियों से छीनी गई जमीन'

देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की 135वीं जयंती आज, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

फडणवीस सरकार ने गुजरात की कंपनी को दिया था करोड़ों का ठेका, सीएम बनते ही उद्धव ने किया रद्द