राज्य सरकार का छलावा, किसानों को पकड़ाया डमी चैक

धार/ब्यूरो। जिले के बिलौदा निवासी किसान लक्ष्मण पिता किशन को 12 फरवरी 2022 को धार के कृषि उपज मंडी प्रागंण-2 में आयोजित प्रधानमंत्री बीमा राशि भुगतान वितरण कार्यक्रम समारोह में बीमा राशि 3 लाख 54 हजार 210 स्वीकृत होने के कारण डमी चैक सौंपा गया था। यह चैक सौंपकर सरकार ने वाहवाही तो लूट ली, लेकिन इस तस्वीर की हकीकत यह है कि चैक मिलने के 6 माह बाद भी किसान के खाते में रकम ट्रांसफर नहीं हो पाई। राशि की आस में किसान ने कृषि विभाग व अन्य संबंधित दफ्तरों के चक्कर लगाए, लेकिन कोई सकारात्मक सहयोग नहीं मिलने के कारण परेशान होकर सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की है।

दरअसल 12 फरवरी 2022 को धार कृषि उपज मंडी में वर्ष-2020 का प्रधानमंत्री बीमा राशि भुगतान वितरण समारोह आयोजित किया गया था। इसमें खरीफ सीजन की बीमा क्लेम राशि का वितरण होना था। इसके लिए जिले के 2 लाख 1 हजार 907 किसानों का चयन किया गया था। इन किसानों को 235.57 करोड़ रुपए बीमा क्लेम राशि का वितरण होना था। इसमें कुछ किसान ऐसे थे, जिनका बीमा क्लेम राशि का आंकड़ा काफी बड़ा था। इनमें बिलोदा के किसान लक्ष्मण पिता किशन को बीमा क्लेम राशि 3 लाख 54 हजार 210 रुपए स्वीकृत की गई थी। समारोह अतिथि विधायक नीना वर्मा, नागरिक आपूर्ति निगम उपाध्यक्ष राजेश अग्रवाल, पूर्व सांसद सावित्री ठाकुर समेत अधिकारियों ने किसान लक्ष्मण को डमी चैक भी सौंपा था।

किसान लक्ष्मण ने बताया कि 12 फरवरी को गरीमामय समारोह में डमी चैक तो मिल गया था, लेकिन खाते में रकम आज तक नहीं आई है। विभाग के चक्कर लगाए तो बताया गया कि रकम निजी बैंक के केसीसी खाते में आ जाएगी। लेकिन 6 माह बीत चुके है रकम नहीं मिली है। सीएम हेल्पलाइन पर इसकी शिकायत की है। बताया जा रहा है कि अन्य किसानों को भी बीमा क्लेम रकम नहीं मिली है। भारतीय किसान संघ के अनमोल पाटीदार ने बताया कि इस बार कृषि विभाग की तरफ स्वीकृत ऋण प्रकरणों की सूची भी जारी नहीं की। इस कारण कितने और कौन किसान बीमा क्लेम राशि के लिए चयनित हुआ, यह क्लीयर नहीं हुआ। जिन्हें मंच से चैक सौंपे गए, उन्हें आज तक रकम नहीं मिली।

कच्चा बादाम गाने पर अपने डांस से इंटरनेट पर आग लगा चुकी है अंजलि अरोड़ा

जानिए कैसा है हैंडलूम का इतिहास

पंजाब से हिमाचल पहुंचा लंपी वायरस, शिमला-सोलन में पशुओं की मौत

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -