हमले के बाद दिया राज्य सरकार ने सुरक्षा पर ध्यान

Jan 07 2016 12:40 PM
हमले के बाद दिया राज्य सरकार ने सुरक्षा पर ध्यान

पठानकोट ​: पंजाब के पठानकोट में हुए आतंकी हमले के बाद अब पंजाब सरकार जाग उठी है। पंजाब सरकार ने केंद्रीय मंत्रालय से राज्य में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाए जाने के लिए सेना की तैनाती को बढ़ाए जाने की मांग की है। राज्य के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने मांग की है कि इस राज्य में सैनिकों की संख्या बढ़ाई जाए। इस मामले में उन्होंने केंद्र सरकार को पत्र भी लिखा। इस पत्र में सुरक्षा बल बढ़ाने की मांग की गई है।

दरअसल पठानकोट हमले के बाद राज्य सरकार पर भी तरह - तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। एक राष्ट्रीय समाचार चैनल के सवालों को लेकर पंजाब प्रांत के गृहमंत्री और उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने अपने जवाब दिए। जब उनसे गुरदास पुर के एसपी सलविंदर सिंह के बारे में सवाल किए गए तो उन्होंने कहा कि सलविंदर की भूमिका संदिग्ध है ऐसा सरकार नहीं कहना चाहती लेकिन यदि लापरवाही की बात सामने आ रही है तो उनसे पूछताछ की जा रही है

हालांकि उन्होंने राज्य पुलिस द्वारा लापरवाही बरतने के आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि तड़के 3.30 बजे सलविंदर को आतंकियों ने सूचना दे दी थी। केंद्रीय गृहमंत्रालय को प्रातः 7 बजे हमले की सूचना दे दी गई थी। पंजाब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी पठानकोट हेतु रवाना हो गए थे। हालांकि सलविंदर को गंभीरता से न लेने का कारण उनका पुराना रिकाॅर्ड था।

पाकिस्तान के ही साथ संबंध बहाली को लेकर उपमुख्यमंत्री बादल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। उन्होंने राज्य में सक्रिय ड्रग्स तस्करी के जोर पकड़ने की बातों को नकार दिया। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर आतंकी घटनाओं पर दुख जताया है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात भी कही है।