इन अभिनेत्रियों ने बाल कलाकार के तौर पर किया था डेब्यू

हिंदी सिनेमा में ऐसे कई सितारे हैं जो बतौर बाल कलाकार पर्दे पर नजर आ चुके हैं। इसके साथ ही इन सितारों में श्रीदेवी, उर्मिला मातोंडकर और आयशा टाकिया का नाम मौजूद है। इसके अलावा इन सितारों ने ना केवल बचपन में नाम कमाया बल्कि मुख्य भूमिका में भी दर्शकों के दिलों पर राज करने में कामयाब रहीं है। इसके अलावा  श्रीदेवी ने अपने करियर की शुरुआत बाल कलाकार के तौर पर की थी। वहीं चार साल की उम्र में उन्होंने तमिल फिल्म 'कंदन करुनाई' (Kandan Karunai) की, जो 1967 में रिलीज हुई थी। इसके साथ ही हिंदी में श्रीदेवी की पहली फिल्म 1972 में रिलीज हुई 'रानी मेरा नाम' थी। वहीं धीरे-धीरे श्रीदेवी ने सफलता के ऐसे मुकाम को छुआ, जहां उनको टक्कर देने वाला आस-पास भी नहीं था। उन्हें हिंदी सिनेमा की पहली फीमेल सुपरस्टार कहा जाता है।एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत बाल कलाकार के तौर पर की थी। वहीं उन्होंने मराठी फिल्म 'झाकोला' (1980) से डेब्यू किया। 'कलयुग' (1981) उनकी पहली हिंदी फिल्म थी। उर्मिला को फिल्म 'मासूम' से बॉलवुड में पहचान मिली थी ।इसके अलावा  फिल्म में उनका गाना 'लकड़ी की काठी, काठी पे घोड़ा' आज भी मशहूर है। 

इसके साथ ही उर्मिला ने सिर्फ हिंदी ही नहीं मराठी, तमिल, तेलुगू और मलयालम फिल्मों में भी काम किया है। इसके साथ ही अभिनेत्री उर्मिला की पहली फिल्म निर्देशक एन चंद्रा के साथ 'नरसिम्हा' थी। वहीं आलिया भट्ट पहली बार 1999 में रिलीज हुई फिल्म 'संघर्ष' में बतौर बाल कलाकार के रूप में नजर आई थीं। वहीं इस फिल्म में अक्षय कुमार, प्रीति जिंटा और आशुतोष राणा की मुख्य भूमिका थी। इसके बाद में आलिया ने करण जौहर की फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' में लीड रोल में दिखी थीं। वहीं इस फिल्म से उन्होंने दर्शकों के बीच अपनी जगह बना ली। इसके साथ ही 1998 में रिलीज हुई शाहरुख खान, काजोल और रानी मुखर्जी की मुख्य भूमिका से सजी फिल्म 'कुछ कुछ होता है' तो आपने देखी ही होगी।असल में फिल्म में इन तीनों कलाकारों के अलावा शाहरुख की बेटी अंजलि को कौन भूल सकता है।वहीं फिल्म में चुलबुली अंजलि का किरदार सना सईद ने निभाया था। 

'कुछ कुछ होता है' में बतौर बाल कलाकार के रूप में सना सईद को खूब सराहना मिली थी । इसके बाद वो साल 2000 में रिलीज हुई फिल्म 'बादल' और 'हर दिल जो प्यार करेगा' में भी नजर आ चुकी हैं। इसके अलावा सना ने करण जौहर की ही फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' से डेब्यू किया था। वहीं अपनी डेब्यू फिल्म टार्जन: द वंडर कार से ढेर सारे अवॉर्ड बटोरने वालीं आयशा टाकिया बाल कलाकार के तौर पर कई विज्ञापन फिल्में कर चुकी हैं। आयशा लंबे समय तक हेल्थ ड्रिंक 'कॉम्पलान' का चेहरा रही हैं। इसके साथ ही हंसिका ने अपने करियर की शुरुआत साल 2003 में टीवी सीरियल 'शाका लाका बूम बूम' से की थी। इसके अलावा वो 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी', 'सोन परी', 'करिश्मा का करिश्मा' और 'हम दो हैं ना' सीरियल में दिखाई दे चुकी हैं।वहीं  हंसिका मोटवानी का जन्म बिजनेसमैन प्रदीप मोटवानी के घर हुआ था। वहीं उनकी शुरुआती पढ़ाई मुंबई के पोदार इंटरनेशनल स्कूल से हुई। इसके साथ ही कई टीवी शो करने के बाद साल 2003 में हंसिका ने ऋतिक रोशन की फिल्म 'कोई मिल गया' में काम किया था। इसके बाद बॉलीवुड फिल्म 'आपका सुरूर' में लीड रोल में नजर आईं। इस फिल्म के गाने हिट हुए थे हालाँकि फिल्म फ्लॉप। 

टाइगर श्रॉफ की 'बागी 3' का कलेक्शन जान उड़ जायेंगे होश

काला हिरण शिकार मामले में हुआ जज का प्रमोशन, टल गई सुनवाई

इन अभिनेत्रियों के लिए बहुत ख़ास है महिला दिवस के मायने

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -