स्पाइडर वेन्स के कारण भी है पैरों में दर्द, जानें क्या है ये...

कई बार पैरों में दर्द सिर्फ थकान की वजह होता है. पर आपको बता दें ये हर बार ही थकान से नहीं होता बल्कि इसके पीछे कोई अंदरूनी समस्या भी हो सकती है. इसके बारे में आपको कोई जानकारी नहीं होगी. आपको बता दें, ऐसी ही समस्या है स्पाइडर वेन्स. स्पाइडर वेन्स छोटी, मुड़ी रक्त वाहिकाएं होती हैं, जिन्हें टेलैंजिक्टासिया के नाम से भी जाना जाता है. ये लाल, बैंगनी, या नीले रंग की हो सकती हैं. अक्सर पैरों या चेहरे पर दिखाई देते हैं. आइये जानते हैं इसके बारे में. 

स्पाइडर वेन्स अक्सर टीस मारने वाले दर्द और बेचैन पैरों से जुड़ी होती हैं. यह स्थिति 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में आम है. स्पाइडर वेन्स नसों में कमजोर वाल्व के कारण होती हैं. क्षतिग्रस्त वाल्व नसों में सूजन का कारण बनते हैं.  

इसलिए बनने लगती हैं स्पाइडर वेन्स
पैर में कई वॉल्व होते हैं, जो रक्त को हृदय की दिशा में प्रवाहित होने में मदद करते हैं. जब ये वॉल्व क्षतिग्रस्त हो जाते हैं, तो सूजन, दर्द, थकान, खुजली के लक्षणों के साथ रक्त के थक्के बनना शुरू हो जाते हैं. निचले अंगों से हृदय की ओर रक्त का प्रवाह कम होने से नसों में खून एकत्रित होता रहता है. पैरों में सूजन आ जाती है. वैरिकोज वेंस में त्वचा के निचले हिस्से की नसें उभरकर बाहर आ जाती हैं. इसे स्पाइडर वेंस भी कहते हैं, क्योंकि नसें आपस में कुछ इस तरह से उलझ जाती हैं कि वे मकड़े की जाली की तरह दिखने लगती हैं. यह रोग आमतौर पर पैरों में होता है. इसे दूर करने के लिए आप इन चीज़ों का इस्तेमाल करें. 

हरा टमाटर 
हरा टमाटर स्पाइडर वेन्स का इलाज करने के लिए फायदेमंद होते हैं क्योंकि वे प्रभावित क्षेत्रों में रक्त परिसंचरण को बढ़ाते हैं. बेहतर परिणामों के लिए, हरे टमाटर को रिंग शेप में काट लें. एक पट्टी के साथ प्रभावित क्षेत्र पर टमाटर को बांधें.

लहसुन
लहसुन में ऐंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं. लहसुन के ऐंटीऑक्सिडेंट और विरोधी भड़काऊ गुण शरीर में रक्त परिसंचरण को बढ़ाते हैं और साथ ही स्पाइडर वेन्स की समस्या को कम करते हैं. बेहतर परिणाम के लिए लहसुन का सेवन बढ़ाएं.

अदरक
अदरक के यौगिक की उपस्थिति, स्पाइडर वेन्स का मुकाबला करने के लिए सबसे अच्छा प्राकृतिक अवयवों है. बेहतर परिणाम के लिए, दस मिनट के लिए पानी में अदरक उबालें.

ये गलतियां बनती हैं महिलाओं में यूरिन इन्फेक्शन का कारण

प्रेगनेंसी के समय हो रही नींद ना आने की परेशानी, जानें कुछ तरीके

आज की लाइफ में खुद का और दिल का ऐसे रखें ध्यान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -