लगातार तीसरे साल भारतवंशीय छात्रों ने जीती स्पेलिंग बी प्रतियोगिता

May 30 2016 04:48 PM
लगातार तीसरे साल भारतवंशीय छात्रों ने जीती स्पेलिंग बी प्रतियोगिता

भारत के लिए यह गर्व की खबर है की पिछले दो साल से अपराजित रहे अमेरिका की मशहूर स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी प्रतियोगिता में इस साल भी भारतीय मूल के ही दो छात्रों ने सफलता हासिल की है. एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता को टेक्सास के आस्टिन निवासी निहार जंग (11) और न्यूयॉर्क के जयराम हथवार (13) ने संयुक्त रूप से जीता है. 13 वर्षीय जयराम इस प्रतियोगिता में अपनी जीत से काफी उत्साहित दिखे.अपनी जीत को लेकर उन्होंने कुछ यू प्रतिक्रिया दी, 'यह बिल्कुल पागल कर देने वाला है.

मैं इसे किन शब्दों में बयां करूं यह भी नहीं जानता.' 11 वर्षीय निहार ने भी खुश होते हुए कहा , 'मैं नि:शब्द हूं. मैं कुछ कह नहीं सकता. मैं तो अभी सिर्फ पांचवी कक्षा में हूं.' इस प्रतियोगिता में अंतिम शब्द जो इन छात्रों को जीत की ओर ले गए वो थे: 'गेसेल्सचाफ्ट' और 'फेल्डनेक्रेइस'. निहार ने 'गेसेल्सचाफ्ट' व जयराम ने 'फेल्डनेक्रेइस' शब्दों का सही उच्चारण किया. रोचक बात यह है कि वर्ष 2014 में जयराम के भाई श्रीराम भी यह प्रतियोगिता जीत चुके है.

अमेरिकन अख़बार 'अमेरिका टुडे' की खबर के मुताबिक, जयराम ने दो शब्दों कुत्ते की एक नस्ल 'ड्राथार' और एक भाषा जिसका नाम 'मिसचस्प्राचे' का गलत उच्चारण किया था,जिस वजह से वो हार सकते थे परन्तु निहार ने भी दो शब्दों का गलत उच्चारण किया, जिस वजह से दोनों के सामान अंक ही हुए.

प्रतियोगिता के विजेताओं को करीब 27 लाख रुपये (40 हजार डॉलर) नकद एवं अन्य पुरस्कार दिए जाएंगे. इस साल की प्रतियोगिता कि बात करे तो इसकी शुरुआत 143 लड़को एवं 141 लड़कियों सहित 284 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था.इन प्रतिभागियों के मध्य लिखित परीक्षा और स्टेज पर दो दौर के उच्चारण करने कि प्रतियोगिता हुई जिसके बाद बुधवार की शाम तक यह संख्या 45 रह गई थी.इस दौर के चैलेंजेस के बाद १० प्रतिभागी अंतिम दौर के लिए चयनित हुए थे.