बारिश कम, फसल कम तो उत्पादन भी कम

मानसून सीजन में कमजोरी का रुख देखने को मिला है और इस कमजोरी के रुख के साथ ही मानसून सीजन भी ख़त्म हो गया है. इसके साथ ही खरीफ फसल के उत्पादन को लेकर विशेषज्ञों के द्वारा अनुमान जारी किये गए है. बताया जा रहा है कि सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के द्वारा इस खरीफ सीजन (2015-16)में सोयाबीन का उत्पादन 86.426 लाख टन रहने का अनुमान लगाया गया है. जबकि इस एसोसिएशन के द्वारा वर्ष 2014 की खरीफ फसल के उत्पादन को लेकर 90 लाख टन का अनुमान संशोधित किया गया है.

जबकि इसके साथ ही सोयाबीन का कैरीओवर स्‍टॉक 9 लाख टन रहने का भी अनुमान लगाया गया है. मामले में आपको इस बात से भी अवगत करवा दे एसोसिएशन के द्वारा इस साल सैटेलाइट के आधार पर सर्वे किया गया है, जिसके अंतर्गत मध्‍य प्रदेश, महाराष्‍ट्र और राजस्‍थान के कई जिलों को शामिल किया गया है और साथ ही अन्य हिस्सों को भी नजर में रखा गया है.

इस सर्वे को लेकर यह भी कहा जा रहा है कि यह सर्वे 15 सितम्बर से लेकर 24 सितम्बर के बीच किया गया है. मामले में ही यह बात भी सामने आई है कि देश में सोयाबीन की बोआई 110.656 लाख हैक्‍टेयर में की गई है जोकि सरकारी आंकडे 116.285 लाख हैक्‍टेयर से 5.629 लाख हैक्‍टेयर कम पाई गई है. इसको देखते हुए यह कहा जा रहा है कि उत्पादन बहुत हद तक प्रभावित हो सकता है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -