आतंक की राह पर दक्षिण कश्मीर के युवा, बड़ी संख्या में लश्कर में हो रहे भर्ती

श्रीनगर: पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद जम्मू कश्मीर में इस समय भी तेजी से फ़ैल रहा है. सुरक्षा एजेंसियां लगातार आतंकियों के विरुद्ध ऑपरेशन ऑल आउट चला रही हैं, बॉर्डर पार से आतंकी घुसपैठ कराने में नाकाम हो रहे हैं. यही कारण है कि अब आतंकी संगठन, जम्मू कश्मीर के युवाओं को आतंकी बनाने में जुटे हुए हैं.

खुफिया एजेंसियों की जो रिपोर्ट के अनुसार, इस साल जनवरी से जून 2021 तक दक्षिणी कश्मीर में 82 फीसद भटके हुए नौजवानों ने आतंक की राह पकड़ी है, जबकि उत्तरी कश्मीर और सेंट्रल कश्मीर में 9 फीसद भटके युवाओं ने आतंक का रास्ता अपनाया है. सूत्रों के अनुसार, इसमें से सबसे अधिक युवाओं ने लश्कर-ए-तैयबा का रुख किया है. खुफिया सूत्रों के अनुसार, इन 6 महीनों में सबसे अधिक 49 प्रतिशत भटके हुए युवाओं ने लश्कर जैसे खतरनाक आतंकी संगठन को चुना है.

जानकारी के अनुसार, जून 2021 तक कुल 57 भटके लोगों ने जम्मू कश्मीर में आतंक का रास्ता पकड़ा है, जिसमें लश्कर में 28 आतंकी, हिजबुल मुजाहिदीन में 13 आतंकी, अल-बदर में 11 और जैश में 3 आतंकी शामिल हुए. एक तरफ ऑपरेशन ऑल आउट में जहां आतंकी कमांडरों को निशाना बना कर उनको ढेर किया जा रहा है, तो वहीं दूसरी ओर सुरक्षा बल आतंक के रस्ते पर जाने वाले कश्मीर के युवाओं को भी रोकने का कार्य कर रहे हैं.

बीजेपी के खिलाफ बसपा के सतीश का विवादित बयान, कहा- "निजी इस्तेमाल के लिए राम मंदिर के चंदे..."

कई राज्यों में 100 के पार हुआ पेट्रोल-डीजल का भाव, जानिए आज का दाम

व्हाइट हाउस ने सभी संघीय कर्मचारियों के लिए कोविड -19 टीकाकरण अनिवार्य करने का किया एलान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -