पूर्व प्रधानमंत्री की पुष्यतिथि पर भावुक हुई सोनिया गांधी

नई दिल्ली : अब इसे राजनीति की जरुरत कहिए या फिर भीतर चल रहा उबाल जो सार्वजनिक रुप से बाहर आ गया। आज पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि है। कांग्रेस की ओर से इस मौके पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस आय़ोजन के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भाषण देते हुए भावुक हो उठी।

सोनिया ने राजीव के सपने को साकार करने और उनके मार्ग पर चलने की बात की। सोनिया ने कहा कि उनका सपना एक सशक्त और खुशहाल भारत का था, जिसे हमें पूरा करना है। भाषण में रुंधी हुई आवाज में सोनिया ने कहा कि समाज राजनीति और अर्थव्यवस्था में हम जिन फायदों का जिक्र करते है, उनकी शुरुआत राजीव जी ने ही की थी।

देश के कई राज्यों में शांति की स्थापना के राजीव गांधी के प्रयासों की सराहना करते हुए सोनिया ने कहा कि राजीव जी के कार्यकाल में ही मेघालय, असम और पंजाब में शांति बहाल हुई थी। वो भारत को एक नई विश्व व्यवस्था की सबसे अगली कतार में देखना चाहते थे।

आगे सोनिया ने कहा कि आज के मौके पर मैं बस यहीं कहूंगी कि बुनियादी वसूलों को भूलाकर की गई सफलता कभी टिकती नहीं है। भाषण के समापन से पहले सोनिया ने राजीव के समर्पण को याद रखने को भी कहा। उन्होने कहा कि भारत की मिट्टी में मिले राजीव जी के एक-एक बूंद खून का कर्ज सामाजिक भाईचारे से चुकाना है।

इस मौके पर राहुल गांधी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से कहा गया कि एक पिता, पीएम और इंसान के तौर पर याद करके राहुल गांधी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -