गर्दन तक जमीन में गाड़कर, महिला पर बरसाए पत्थर

सोमालिया: सोमालिया में एक महिला को आतंकी संगठन अल शबाब के तुगलकी फरमानों का सामना करना पड़ा, अल शबाब की अदालत ने एक महिला को इसलिए पत्थर से मार-मार कर मौत के घाट उतारने का फैसला सुना दिया, क्योंकि उसने 11 बार शादी की थी. जो की इस्लाम के शरिया कानून के विरुद्ध थी, अल शबाब इसी शरिया कानून का कट्टर समर्थक है.

सोमालिया की एक महिला शुकरी अब्दुलाही वारसेम को अल शबाब ने इसलिए इतनी सख्त सजा सुनाई, क्योंकि उसपर आरोप था कि उसके 11 पति हैं, लेकिन इनमे से किसी को भी उसने तलाक़ नहीं दिया है. दक्षिणी सबलाले शहर के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि महिला को पहले गर्दन तक जिन्दा जमीन में गाड़ दिया गया, फिर उसके बाद उसपर बेरहमी से पत्थर बरसाए गए. और वो भी तब तक, जब तक वो लहूलुहान होकर मर नहीं गई.

अल-शबाब के गवर्नर मोहम्मद अबू ओसामा ने रॉयटर्स को बताया, 'अब्दुलाही के 9 पति थे. उन सभी को कोर्ट में बुलाया गया और वे सभी कह रहे थे कि वह उनकी पत्नी है.' उल्लेखनीय है कि इस्लाम के शरिया कानून के मुताबिक एक औरत का एक से ज्यादा पति होना अवैध है, जबकि पति ऐसा कर सकता है. वहीं, सोमालिया के बड़े हिस्से पर अल-शबाब के चरमपंथियों का कब्ज़ा है, जहाँ वे क्रूरता के साथ शरिया कानून का पालन करवाते हैं. 

साइबर हमलों को रोकने चीन-पाक तैनात करेंगे महिला अधिकारी

रोमांच और खूबसूरत नजारों से भरपूर है न्यूजीलैंड का यह शहर

स्नूकर चैम्पियन की नग्न प्रेस वार्ता

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -