युगांडा में लाखों लोगों को सड़क पर ले आया इंटरनेट

Mar 02 2019 09:36 AM
युगांडा में लाखों लोगों को सड़क पर ले आया इंटरनेट

कंपाला : युगांडा में इंटरनेट को लेकर देशभर के लोग सड़कों पर हैं। यहां सरकार ने सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर टैक्स लगा दिया है। करीब 60 वेबसाइटों को इसके दायरे में रखा गया है। फेसबुक, वॉट्सऐप और ट्विटर जैसी वेबसाइटों पर भी 200 युगांडन शिलिंग्स प्रतिदिन के हिसाब से टैक्स की दर निर्धारित की है। इसके चलते पिछले छह महीने में ही 25 लाख लोग इंटरनेट का प्रयोग बंद कर चुके हैं। 

प्रयागराज के कुंभ मेले में बना एक ऐसा वर्ल्ड रिकाॅर्ड, जिसे जानकर आप भी हो जायेंगे हैरान

बड़ी संख्या में सड़कों पर उतरे लोग 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार 5 करोड़ जनसंख्या वाले देश में अब सिर्फ 12 लाख लोग ही नेट पर टैक्स दे रहे हैं। सोशल मीडिया टैक्स का ऐलान पहली बार जुलाई में किया गया था। इसका मकसद सोशल मीडिया पर लोगों की गपशप रोकना था। राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी ने इसे सामान्य रिचार्ज के ऊपर लगाने का ऐलान किया था। हालांकि, जनता ने इसे सीधे तौर पर अभिव्यक्ति की आजादी में दखल करार दिया था। बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए थे। कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने अदालत में सरकार के इस फैसले को चुनौती भी दी है।

विश्व वन्यजीव दिवस: लुप्त होते जीवों को बचाने के लिए की गई एक पहल
 
एक चौथाई तक गिरा राजस्व 

जानकारी के अनुसार लोगों के इंटरनेट छोड़ने की वजह से टेलिकॉम कंपनियों को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। कम राजस्व होने की वजह से मोबाइल कंपनियां कर्मचारियों की तनख्वाह नहीं दे पा रही हैं। टैक्स लागू होने के तीन महीने के अंदर ही कंपनियों का राजस्व एक चौथाई तक गिर गया था। युगांडा के लोगों ने टैक्स की समस्या का हल भी खोज लिया है। कई लोग टैक्स चुकाने के बजाय वीपीएन सॉफ्टवेयर इस्तेमाल कर रहे हैं।

OIC बैठक में बोली सुषमा स्वराज, हमारी लड़ाई आतंक के खिलाफ, किसी धर्म के विरुद्ध नहीं

इस तरह धारण करें लाजावर्त मणि, दूर होगी हर बाधा

सुषमा स्वराज को विशिष्ट अतिथि बनाने से बौखलाया पाक, किया OIC की बैठक का बहिष्कार