इसलिए साँप बीन की धुन बजते ही निकल आते हैं बाहर...

इस धरती पर कई ऐसी बातें होती हैं जिनको समझ पाना बहुत मुश्किल होता हैं. अगर बात जानवरों की जाए तो आपके लिए भी ये अजीब होता है. वो बातों को कैसे समझते हैं और इस तरह से उस पर रियेक्ट करते हैं इसे समझ पाना बहुत ही मुश्किल होता है. जानवरों से जुडी ऐसे कई बातें होती हैं जो आसानी से हजम नहीं हो पाती हैं। ऐसा ही कुछ होता है सांप के साथ जिसमें सांप के कान नहीं होने पर भी वह बीन की धुन बजते ही खुद को कंट्रोल नहीं कर पाते हैं और नाचने लगते हैं। आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं. 

आपने कई बार देखा होगा कि जब भी सपेरा बीन बजाता है तो सांप कहीं भी होता है तो तुरंत बाहर आ जाता है और सपेरा उसे पकड़ लेता है. इस बात से हर कोई हैरान रहता है कि ऐसा कैसे होता है. अगर आप भी इस बारे ने जानना चाहते हैं तो आप भी जान लें कि ऐसा क्यों होता है. 

दरअसल, सांप हवा में मौजूद ध्वनि तरंगों पर रिएक्शन नहीं देते, बल्कि धरती से निकलने वाले कंपन यानि वाइब्रेशंस को अपने जबड़े में पाई जाने वाली एक ख़ास हड्डी के ज़रिये महसूस करते हैं। सांप केवल हिलती-ढुलती चीजों को साफ़ देख पाते हैं। इसिलए सपेरा जब बीन को बजाते हुए उसे इधर-उधर करता है, तो बीन के साथ-साथ सांप भी हिलता-ढुलता है और लोग यह समझते हैं कि सांप बीन की धुन पर नाच रहा है। तो अब आप भी समझ गए होंगे कि सांप बिना कान के भी बीन के सामने कैसे आ जाता है. 

तो इस वजह से बच्चे खाते हैं मिट्टी, जानकर हैरान हो जाएंगे आप

इस देश में बनी पहली लेटी हुई इमारत, बनाने में खर्च हुए 27 हजार करोड़

प्रयागराज के कुंभ मेले में बना एक ऐसा वर्ल्ड रिकाॅर्ड, जिसे जानकर आप भी हो जायेंगे हैरान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -