चीन में मौत की वजह बना धूम्रपान, हर 3 युवको में एक की मौत

Oct 10 2015 07:10 AM
चीन में मौत की वजह बना धूम्रपान, हर 3 युवको में एक की मौत

लंदन. द लांसेट मेडिकल जर्नल के रिसर्च के अनुसार चीन में युवकों की मौत का कारण धूम्रपान साबित हो रहा है। आपको जानकारी दें कि इनमें अधिकतर 20 वर्ष की उम्र से कम के होते हैं। इनमें से कुछ इसे छोड़ देते हैं लेकिन आधे अपनी इस लत के कारण से मारे जाते हैं। द लांसेट मेडिकल जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार चीन में दो-तिहाई युवक धूम्रपान करना शुरु करते हैं।

जानकारी दें कि इस शोध का सह-नेतृत्व कर रहे बीजिंग स्थित एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेज के प्रोफेसर लिमिंग ली ने कहा कि बिना किसी तेज, प्रतिबद्ध और व्यापक स्तर पर की गई कार्रवाई से धूम्रपान के स्तर को कम नहीं किया जा सकता। इससे चीन को अकाल मौतों का सामना करना पड़ेगा। वैज्ञानिकों ने चीन में धूम्रपान से स्वास्थ्य के परिणामों पर नजर रखने के लिए विगत 15 वर्षों के दौरान 2 बड़े अध्ययन किए। पहला अध्ययन 1990 के दशक में किया गया था और इसमें 10 लाख पुरुषों को शामिल किया गया। दूसरा अध्ययन चल रहा है और इसमें 10 लाख पुरुषों और महिलाओं को शामिल किया गया है।

फिलहाल, यह रिपोर्ट चीन में धूम्रपान से साल की मृत्यु दर को प्रदर्शित करती है। इसके अनुसार साल 2010 में तंबाकू के कारण मरनेवालों की संख्या 10 लाख तक पहुंच गई थी। इसमें कहा गया है कि अगर यही रुझान रहा तो वर्ष 2030 तक इसकी संख्या 20 लाख हो सकती है। इस अध्ययन में पाया गया है कि चीनी महिलाओं में धूम्रपान की दर घटी है और तंबाकू से अकाल मौत का खतरा कम हुआ है। अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि हाल के दशकों में युवाओं में सिगरेट पीने की आदतों में तेजी देखी गई है। इसमें कहा गया है कि सभी पुरुषों का मृत्यु दर वर्ष 1990 के 10 प्रतिशत के मुकाबले दोगुनी हो गई है जबकि शहरी क्षेत्रों में इसका अनुपात 25 प्रतिशत है और यह लगातार बढ़ रहा है।