स्मार्ट फोन ने बढ़ाया ब्राॅडबैंड का यूज़

वर्षों पूर्व तक भारत में मोबाईल का उपयोग केवल फोन करने के लिए हुआ करता था लेकिन अब मोबाईल ने जब स्मार्ट फोन का रूप अपना लिया तो इसका उपयोग तरह - तरह के कामों में होने लगा। अब स्मार्ट फोन का उपयोग व्हाट्सऐप, वीचैट, हाईक, स्काईप और ऐसे ही अन्य मैसेजिंग एप्लिकेशंस में किया जाता है। मोबाईल ब्राॅडबैंड के उपयोग को बढ़ाने में स्मार्ट फोन का अहम रोल है। यह बात हाल ही में दूरसंचार उपकरण निर्माण करने वाली स्वीडिश कंपनी एरिक्सन द्वारा सार्वजनिक की गई है। मिली जानकारी के अनुसार स्मार्टफोन पर अधिक कार्य तो मेसेजिंग का ही होता है। इस दौरान हम स्मार्ट फोन पर कई तरह की एप्स आॅन रखकर उनका उपयोग करते हैं।

इस दौरान मोबाईल ब्राॅडबैंड का उपयोग बढ़ने में काफी परेशानी होती है। दूसरी ओर स्मार्टफोन को लेकर 47 प्रतिशत तक तो व्हाट्सएप और अन्य मैसेजिंग सर्विसेस का ही उपयोग होता है। अब यह मैसेजिंग सर्विस हमारे जीवन में इतना बढ़ गई है कि हम इसके बिना रह नहीं सकते हैं। जीवन में व्हाट्सएप तो डेली सोप से भी ज़्यादा जरूरी हो गया है।

लोग अपने व्हाट्सएप फोटो न जाने कितनी बार अपडेट करते हैं। यही नहीं स्मार्टफोन ने यूज़र को स्मार्ट तरीके से बदल दिया है। रेलवे रिजर्वेशन हो, या आॅन लाईन शाॅपिंग या फिर कैब बुक करना हो सभी इससे हो रहा है। इस फोन पर यह सब ब्राॅडबैंड के बिना संभव ही नहीं है। फिर आप वोडाफोन का छोटा रिचार्ज करवाकर नेट चलाऐं या फिर 3 जी नेट पैक डलवाऐं लेकिन ब्राॅडबैंड तो आपको चलाना ही होगा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -