इन 7 परियोजना से आएंगे भारतीय रेल में बदलाव

Aug 30 2018 11:55 AM
इन 7 परियोजना से आएंगे भारतीय रेल में बदलाव

रेल मंत्री पियूष गोयल ने हाल ही में इस बात पर ज़ोर दिया है कि भारतीय रेलवे को स्मार्ट परियोजना पर ध्यान देने की ज़रूरत है. भारतीय रेलवे को एक स्मार्ट ट्रांसपोर्टर के रूप में बदलने के लिए अपने मंत्रालय द्वारा की गई कई पहलों के बारे में बात करते हुए आगे ये भी कहा है कि संभावनाओं और समाधानों पर विचार-विमर्श करने की ओर ध्यान देना भी ज़रूरी है क्योंकि वो आधुनिक तकनीक से जुड़ें ताकि देश में लोग सर्वश्रेष्ठ क्लास का आनंद ले पाएं. उन्होंने अपने काम पर कुछ 7 परियोजनाएं बताई है -

* स्टेशन मास्टर रिकॉर्डिंग समय बजाने की जगह रेल को समय बढ़ बनाने की कोशिश करना चाहिए. इस पर कंप्यूटर जेनरेट किए गए डेटा दिखाए गए हैं, इसी के साथ रेल मंत्री ने दावा किया कि 1 अप्रैल, 2018 से अब तक इसने 73-74 प्रतिशत की समयबद्धता में सुधार करने में मदद की है.

* राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर हर रेल इंजन पर जीपीएस डिवाइस डालने पर काम कर रहा है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि प्रत्येक ट्रेन को फ़ोन से ट्रैक किया जा सके और उसका सटीक स्थान पता किया जा सके. इससे रेल का सही समय पता चलता रहेगा.

* भारतीय रेलवे का कहना है कि रेलवे का विद्युतीकरण हर साल $ 2 बिलियन बचा सकता है. रेल मंत्री गोयल के अनुसार डीजल इंजन को ओवरहाल या उसकी कायापलट करने में समान या कम राशि उन्हें इलेक्ट्रिक इंजन में बदलने के लिए खर्च की जाएगी. इसे भारतीय रेलवे के पास एक नया इंजन हो सकता है. इलेक्ट्रिक इंजन का देश पर बड़ा असर पड़ सकता है.

* रेल मंत्री ने यह भी घोषणा की है कि भारतीय रेलवे में जल्दी ही सुधार आएगा रेल को नया टाइम टेबल भी मिल सकता है.

* राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के साथ जुड़ने की योजना की समीक्षा कर रहा है. गोयल के अनुसार, यात्रियों को बेहतर निगरानी के साथ-साथ संपत्तियों के उपयोग और बेहतर यात्री सेवा के साथ उपयोग किए जाने वाले डेटा के साथ बहुत कुछ किया जा सकता है. इस संबंध में, भारतीय रेलवे ने हाल ही में अपना पहला स्मार्ट कोच शुरू किया है जो ट्रैक स्वास्थ्य को जांचने के लिए सेंसर आधारित प्रणाली का उपयोग करता है.

* एक बार स्मार्ट सिग्नलिंग लागू हो जाने के बाद, भारतीय रेलवे का ध्यान स्थायी गति प्रतिबंधों को हटाने पर करेगा और इसी के साथ 150,000 पुलों का सुधार प्राप्त होगा.

* गोयल ने ये भी कहा कि आने वाले 6 से 8 mahine में देशभर में करीब 6000 रेलवे स्टेशन बनाये जायेंगे जिसमें वायफाय भी होगा और हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी भी प्रदान की जाएगी.

खबरें और  भी...

इस एक्टर के बेटे ने पूरा किया फिटनेस चैलेंज , अब बारी है तैमूर की

अब विपक्षी दलों में युवा संगठन भी बनाएंगे ‘महागठबंधन’

चोटी काटने के बाद एक और गैंग का मच रहा हड़कंप

?