आतिशी के जल सत्याग्रह में केजरीवाल के खिलाफ हुई नारेबाजी, AAP कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा

आतिशी के जल सत्याग्रह में केजरीवाल के खिलाफ हुई नारेबाजी, AAP कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा
Share:

नई दिल्ली: दक्षिण दिल्ली के भोगल में अराजकता का माहौल है, जहां दिल्ली की जल मंत्री आतिशी ने राष्ट्रीय राजधानी में जल संकट को लेकर अपनी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल जारी रखी, जो शनिवार को दूसरे दिन भी जारी रही। प्रदर्शनकारियों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ नारे लगाए, जिसके बाद आम आदमी पार्टी (AAP) कार्यकर्ताओं ने उन्हें बाहर निकाला। आतिशी शुक्रवार को अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठीं और आरोप लगाया कि हरियाणा यमुना में दिल्ली के हिस्से का उचित पानी नहीं दे रहा है।

अपने 'जल सत्याग्रह' स्थल से एक वीडियो संदेश में आतिशी ने कहा कि जब तक हरियाणा शहर के लोगों के लिए और पानी नहीं छोड़ता, तब तक वह कुछ नहीं खाएँगी। आतिशी मर्लेना ने कहा कि शुक्रवार को हरियाणा ने 110 मिलियन गैलन प्रतिदिन (एमजीडी) कम पानी छोड़ा। उन्होंने कहा कि, "एक एमजीडी पानी 28,000 लोगों के लिए है। 100 एमजीडी पानी की कमी का मतलब है कि दिल्ली में 28 लाख लोगों को पानी नहीं मिल रहा है।" प्रदर्शन स्थल से प्राप्त वीडियो में लोगों को क्रोधित होते हुए दिखाया गया है, जबकि एक घोषणा की जा रही थी, जिसमें उनसे अराजकता न फैलाने का अनुरोध किया जा रहा था।

वहीं, भाजपा सांसद बांसुरी स्वराज ने आतिशी के उपवास को एक 'ढोंग' करार देते हुए आरोप लगाया कि यह उनकी 'निष्क्रियता' को छिपाने के लिए एक 'राजनीतिक नाटक' है। सुषमा ने आरोप लगाया कि, "आतिशी एक असफल जल मंत्री हैं। इस साल फरवरी से ही यह स्पष्ट था कि दिल्ली को लंबी गर्मी झेलनी पड़ेगी, लेकिन उन्होंने इसके लिए कोई तैयारी नहीं की।" आतिशी पर हमला करते हुए भाजपा की दिल्ली इकाई ने शनिवार को एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें प्रदर्शन स्थल पर AAP का कोई नेता नहीं दिख रहा है।

भाजपा की दिल्ली इकाई ने ट्वीट किया, "यह कैसा अनिश्चितकालीन सत्याग्रह है, जहां आतिशी दोपहर के भोजन और रात में एसी कमरे में खाना खाने और आराम करने जाती हैं! एक बड़ा घोटाला चल रहा है।" इसके तुरंत बाद AAP नेता संजय सिंह ने भाजपा पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया कि, "भाजपा के धोखेबाजों को पता होना चाहिए कि जो भी अनशन पर बैठता है, उसका डॉक्टरों द्वारा मेडिकल चेकअप किया जाता है। मेडिकल रिपोर्ट तैयार की जाती है। अपने केंद्रीय मंत्री को भेजो, नायब सिंह सैनी को भेजो - अगर आप गलत हैं, तो दिल्ली को उसके हिस्से का पानी दे दो।"

स्वाति मालीवाल को पीटने के मामले में बुरे फंसे बिभव कुमार, केजरीवाल की PS की हिरासत 6 जुलाई तक बढ़ी

15 मिनट से अधिक लेट हुए तो कटेगा आधे दिन का वेतन ! केंद्रीय कर्मचारियों को सरकार का सख्त आदेश

T20 वर्ल्ड कप: क्या भारत-बांग्लादेश मैच में मौसम बनेगा विलन ? एंटीगुआ से सामने आई रिपोर्ट

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -