इस दिन तक भारत-नेपाल सीमा रहने वाली है बंद

देश में नेपाल ने कोरोना पॉजिटिव की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए कपिलवस्तु जनपद में कर्फ्यू लगा दिया है. अकेले कपिलवस्तु में 21 लोग संक्रमित हो चुके हैं. नेपाल ने भारत के बढ़नी से लगने वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा अब 31 मई तक सील कर दी है. नेपाल में अब तक 357 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इसमें 36 ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं. एक महिला समेत दो लोगों की मौत हो चुकी है.

सीरिया में समाप्त हो सकती है अशांति, इस बात पर बनी सहमति

इसके अलावा नेपाल के स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्रालय के सह प्रवक्ता डॉ. समीर कुमार अधिकारी के अनुसार काठमांडू से सटे सिन्धुपाल्चोक जिले की एक महिला और बांके जिला के एक युवक की मौत हो चुकी है. कपिलवस्तु के प्रमुख जिलाधिकारी दीर्घ नारयण पौडेल ने बताया कि भारत के सिद्धार्थनगर से सटे कपिलवस्तु जिले की दांग, प्यूठान, रुपन्देही की अंतरिम सीमा भी सील कर दी गई है.

योगी सरकार को प्रियंका ने फिर लिखी चिट्ठी, कहा- आगरा में नहीं दे रहे बसों को एंट्री

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सिद्धार्थनगर जनपद के विभिन्न चार स्थानों पर नेपाल के कुल 106 लोग  क्वारंटाइन किए गए हैं. 40 लोगों को आश्रम पद्धति स्कूल में रखा गया है. 25 लोग बढ़नी तो अन्य दो स्कूलों में हैं. सीमा सील होने के कारण नेपाली नागरिकों के स्वदेश लौटने के लिए अभी इंतजार करना पड़ेगा. वही,कपिलवस्तु के सांसद अभिषेक प्रताप शाह का कहना है कि भूकंप के बाद नेपाल में यह दूसरी सबसे बड़ी विपदा है. इससे नेपाल को अरबों रुपये का नुकसान हुआ है. कोरोना संकट गहराने से पर्यटन उद्योग को बड़ा झटका लगा है. काठमांडू, पोखरा, चितवन, लुम्बिनी समेत नेपाल के पर्यटक  स्थल सूने पड़े हैं. सत्तर फीसद आर्थिक स्रोत का जरिया होटल और पर्यटन उद्योग है.

यूपी की 'बस पॉलिटिक्स' में कूदे अखिलेश, कहा- पहले अपना फिटनेस सर्टिफिकेट दे भाजपा सरकार

कांग्रेस ने दी बसों की गलत जानकारी, धोखाधड़ी के आरोप में प्रदेश पार्टी अध्यक्ष अजय लल्लू गिरफ्तार

ईस्ट अरोरा में पटरी से उतरी ट्रेन, दुर्घटना का कारण जानने में जुटी टीम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -