क्या आप जानते हैं ज़मीन पर बैठकर खाना खाने के फायदे

भारतीय सभ्यता के अनुसार सभी ज़मीन पर बैठकर खाना खाते हैं, लेकिन जब से पश्चिमी सब्यता आई है सभी टेबल कुर्सी पर बैठकर खाने लगे हैं. खाना जमीन पर बैठकर खाना खाने के लिए हमारे बड़े बुजुर्ग आज भी बोला करते है. हम जमीन पर बैठकर खाते हैं तब हम सुखासन की स्थिति में होते हैं,यह पद्मासन का ही एक प्रकार है जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद है. अगर आप भी टेबल कुर्सी पर बैठकर खाते हैं तो आज ही बंद कर दें. 

* बैठकर खाने से पाचन क्रिया ठीक रहती है और खाना अच्‍छे से पचता है. जब आप खाने के लिए आगे झुकते हैं तो पेट की मांसपेशियां आगे पीछे होने से सक्रिय रहती हैं. यह आपके पेट में एसिड को बढ़ाता है और भोजन को आसानी से पचाता है.

* जमीन पर बैठकर खाते हैं तो आपका वजन नियंत्रण में रहता है. दरअसल जब आप सुखासन में बैठते हैं, तो आपका दिमाग अपने आप शांत हो जाता है. वह बेहतर ढंग से भोजन पर ध्यान केंद्रित कर पाता है. बैठकर खाने से पेट और दिमाग को सही समय पर एहसास हो जाता है कि आपने भरपूर खा लिया है, इससे आप ओवरईटिंग से बच जाते हैं.

* जमीन पर बैठकर खाने से शरीर लचीला बनता है. जब आप पद्मासन में बैठते हैं, तो आपकी श्रोणि, निचली पीठ, पेट के आसपास और पेट की मांसपेशियों में खिंचाव होता है. जिसके कारण पाचन तंत्र आराम से अपना काम कर पाता है.

* जब भी आप जमीन पर बैठ कर खाते हैं तो आपका ध्यान खाने में रहता है. यह केवल आपके ध्यान को ही खाने पर केंद्रित नहीं करता बल्कि खाना खाते समय बेहतर विकल्प को चुननें में भी मदद करता है, क्योंकि इस मुद्रा में आपका मन बहुत शांत और आपका शरीर पोषण को स्वीकारने के लिए तैयार होता है.

कई बीमारियों का दुश्मन है प्याज का रस, बस ऐसे करें सेवन

स्वास्थ को ऐसे नुकसान पहुंचा सकता है माउथवॉश

अच्छे स्वास्थ के लिए मायने रखती है आपकी स्लीपिंग पोजिशन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -