सिंघु बॉर्डर: जिस निहंग ने काटा था लखबीर का हाथ, वही लेकर आया था उसे दिल्ली - रिपोर्ट्स

नई दिल्ली: सिंघु-कुंडली बॉर्डर पर दलित युवक लखबीर सिंह की 15 अक्टूबर 2021 को बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। निहंग सिखों पर उसकी हत्या का इल्जाम लगा है। इस मामले में गिरफ्तार किए गए निहंगों में सरबजीत सिंह भी शामिल है। रिपोर्ट्स में बताया गया था कि इस मामले में अरेस्ट अन्य निहंग नारायण सिंह, भगवंत सिंह और गोविंद प्रीत सिंह ने 17 अक्टूबर को अदालत के समक्ष यह कबूल किया था लखबीर का क़त्ल उन्होंने ही किया था। नारायण सिंह ने अदालत में कहा था कि उसने टाँग काटी थी, सरबजीत ने हाथ का पंजा काटा था और गोविंद सिंह एवं भगवंत सिंह ने लखबीर को बैरिकेडिंग पर लटकाया था। इस मामले में सबसे पहले निहंग सरबजीत गिरफ्तार किया गया था। 

अब मीडिया ने पंजाब पुलिस के एक उच्च अधिकारी के हवाले से बताया है कि सरबजीत का लखबीर के साथ संपर्क था। दोनों पहले से ही एक दूसरे को जानते थे। बताया जा रहा है कि सरबजीत अमूमन पंजाब के तरनतारन स्थित लखबीर के गाँव चीमा कलां भी जाया करता था। रिपोर्ट में संभावना जताई गई है कि लखबीर को लेकर सरबजीत ही आंदोलनस्थल पर लेकर आया था। इस हत्याकांड की तहकीकात हरियाणा पुलिस कर रही है। कई किसान नेताओं ने इस घटना के पीछे आंदोलन को बदनाम करने की साजिश होने की बात कही है। इसके बाद अब पंजाब सरकार ने SIT गठित की है। पंजाब सरकार द्वारा गठित SIT के प्रमुख ADGP वरिंदर कुमार हैं। इससे पहले मृत लखबीर के परिजनों ने भी कहा था कि उसके पास सिंघु बॉर्डर तक जाने के पैसे ही नहीं थे। कुछ अज्ञात लोग उसे वहाँ लेकर गए थे। परिजनों ने इन आरोपों पर आपत्ति जताई थी कि लखबीर ने धर्मग्रंथ का अपमान किया था। उनके मुताबिक, लखबीर एक धार्मिक व्यक्ति था और रोज़ दो बार गुरूद्वारे जाता था। वो किसी धर्म का अपमान कर ही नहीं सकता था।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, आरोपित निहंग सरबजीत मात्र 6 साल की ही उम्र में अपने मामा संग उनके गाँव गुरुदासपुर स्थित खुजाला में रहने लगा था। कक्षा 10 पास कर सरबजीत दुबई चला गया था। वहाँ वो तक़रीबन 5 वर्ष रहा। इस दौरान सरबजीत के मामा बटाला के सुखमनी कॉलोनी में रहने आ गए थे। दुबई से वापस आकर सरबजीत फिर से अपने मामा संग रहने लगा। साल 2007 में सरबजीत की शादी भी हुई थी। किन्तु 10 वर्षों बाद 2017 में उसका तलाक हो गया। इसी साल 2017 में सरबजीत नांदेड़ में हुजूर साहिब पहुंचा और वही औपचारिकताएँ पूरी कर निहंग बन गया।  

खुशखबरी! इस धनतेरस-दिवाली पर सिर्फ 1 रुपये में ख़रीदे सोना, जानिए तरीका

बिटकॉइन के साथ क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में आई भारी गिरावट

दूसरी तिमाही की कमाई के बाद बायोकॉन के शेयरों में 4 फीसदी से ज्यादा की आई गिरावट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -