जाधव पर फिल्म बिरादरी की चुप्पी ठीक नहीं- मधुर भंडारकर

बॉलीवुड के मशहूर फिल्मकार मधुर भंडारकर अपने बयान को लेकर चर्चा में है. बता दे कि, मधुर भंडारकर ने पाकिस्तान में कैद कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ वहां किए गए बर्ताव पर मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, उदारवादियों और फिल्म बिरादरी के सदस्यों की 'चुप्पी' की निंदा की.

हाल ही में मधुर भंडारकर ने ट्वीट किया, "यह परेशान करने वाला है जिस तरह कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी को पाकिस्तान में अपमानित किया गया, इससे भी अधिक भयावह इस मामले में मेरे फिल्मोद्योग के साथियों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, उदारवादियों की चुप्पी है." बता दे कि, जाधव की मां और पत्नी जाधव से मुलाकात के लिए इस्लामाबाद गईं थीं. जिसके चलते पाकिस्तान ने कुलभूषण और उनके परिजनों के बीच कांच की दीवार लगा दी. इससे पहले जाधव की पत्नी और मां की चूड़ियां, मंगलसूत्र, बिंदी उतरवा दी गई और कपड़े बदलवाए गए. भारत ने इसकी निंदा की है.

मधुर भंडारकर को फिल्म 'चांदनी बार (2001), पेज 3 (2005), ट्रैफिक सिग्नल (2007) और फैशन (2008) जैसी सर्वश्रेष्ठ फिल्मों के लिए जाना जाता है. उन्होंने ट्रैफिक सिग्नल के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का राष्ट्रीय पुरस्कार जीता. ख़ास बात यह है कि, भंडारकर ने अपनी अधिकांश फिल्मों में मुख्य किरदार नायिका को ही बनाया है.

ये भी पढ़े

बोमन फेकेंगे बॉक्स ऑफिस पर जॉन के साथ 'परमाणु'

विनीत की जमकर तारीफ कर रहे अनुराग कश्यप

इसलिए 'राबता' और 'वीरे दी वेडिंग' का हिस्सा नहीं बन पाए इमाद

 

बॉलीवुड और हॉलीवुड से जुडी चटपटी और मज़ेदार खबरे, फ़िल्मी स्टार की जिन्दगी से जुडी बातें, आपकी पसंदीदा सेलेब्रिटी की फ़ोटो, विडियो और खबरे पढ़े न्यूज़ ट्रैक पर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -