रामलीला में सिखों का उपद्रव, हिन्दू देवी-देवताओं पर अभद्र टिपण्णी.. क्या 'खालिस्तान' बन रहा पंजाब ?

अमृतसर: पंजाबी अखबार में हिंदू देवी के लिए अपमानजनक शब्द का प्रयोग करने के बाद कुछ सिखों ने शनिवार (अक्टूबर 9, 2021) की रात पंजाब के रूपनगर में सनातन धर्म रामलीला समिति द्वारा आयोजित रामलीला में बाधा पहुँचाई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पंडाल में रामलीला चल रही थी, इसी बीच कुछ सिख लाठी-डंडों के साथ वहां पहुँचे और हिंदू देवताओं, आयोजकों को गाली देने लगे। खालिस्तानी मानसिकता वाले अराजक तत्वों ने मौके पर जमकर बवाल किया।

कार्यक्रम के मुख्य निदेशक राकेश सहगल और समिति के अध्यक्ष मनोहर लाल कपूर ने मीडिया को बताया कि समिति के सदस्यों ने सिख समूह को शांत करने का प्रयास किया, किन्तु उन्होंने एक न सुनी और उपद्रव करते रहे। सिख लोगों ने कथित तौर पर समिति पर ‘भाजपा समर्थक’ होने का आरोप लगाते हुए भगवान राम समेत अन्य हिंदू देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की। इससे वहाँ मौजूद भक्तों की भावनाएं आहत हुईं। इन अराजक तत्वों की धमकियों और उपद्रव के कारण कई घंटों तक रामलीला रोकनी पड़ी। आयोजकों का कहना है कि शिकायतों के बाद भी पुलिस ने इन ‘गुंडों’ के खिलाफ कोई कड़ा कदम नहीं उठाया। आयोजकों ने पुलिस की कार्रवाई को निराशाजनक करार दिया है।

बता दें कि कुछ दिन पहले शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने माँ चिंतपूर्णी के दरबार में माथा टेका था। इसे लेकर ‘रोजाना पहरेदार’ के संपादक ने लेख में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इस खबर का शीर्षक था, 'अपने पेओ नूं छड सुखबीर पहुँचेआ बेगानी माँ के दरबार।' माता चिंतपूर्णी के लिए ‘बेगानी माँ’ शब्द का उपयोग करने पर हिंदू संगठनों ने आक्रोश जताया था।  संपादक को अरेस्ट न करने को लेकर प्रदर्शन किया गया था।

केरल सरकार ने कहा- "बीपीसीएल निजीकरण पेट्रोकेमिकल पार्क को..."

NHRC का 28वां स्थापना दिवस आज, पीएम मोदी बोले- भारत ने विश्व को दिखाया अहिंसा का मार्ग

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी अडानी ग्रुप का हुआ, कब्ज़े में आया सातवां हवाई अड्डा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -