+

550 Prakash Parv 2019: गुरु नानक देव जी की भक्ति में डूबा देश, सिखों ने जगह-जगह लगाए लंगर

Nov 12 2019 08:49 AM
550 Prakash Parv 2019: गुरु नानक देव जी की भक्ति में डूबा देश, सिखों ने जगह-जगह लगाए लंगर

अमृतसर: सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के पहले धर्मगुरु गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती के अवसर पर देशभर में जश्न शुरू हो गया है। गुरुद्वारों को सजाया गया है और यहां निरंतर कीर्तन चल रहे हैं। गुरु नानक देव की जी जयंती को प्रकाश पर्व के तौर पर मनाया जाता है जो कि इस वर्ष 12 नवंबर को है। गुरु नानक का जन्म  कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा 1526 ई में हुआ था।

यही वजह है प्रति वर्ष कार्तिक मास की पूर्णिमा को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। गुरु नानक देव जी केवल एक संत नहीं बल्कि, दार्शनिक, समाज सुधारक, चिंतक, कवि और देश प्रेमी भी थे। कहा जाता है कि बचपन से ही नानक साहिब का दिल संसारिक कामों में नहीं लगता था। आठ वर्ष की आयु में ही उनका स्कूल भी छूट गया था। एक बालक के रूप में भगवान की तरफ अधिक लगाव होने से  लोग इन्हें दिव्य पुरुष के रूप में मानने लगे थे।

गुरु नानक देव जी के जन्मोत्सव, प्रकाश पर्व को मनाने वाले श्रद्धालु इस अवसर पर गुरुद्वारों समेत जगह -जगह लंगर का आयोजन करते हैं। नगर कीर्तन निकालते हैं। ढोल नगाड़ों के साथ कलाकार गतका परफॉर्म करते हैं और कहीं-कहीं तलवार बाजी की कला का भी आयोजन किया जाता है।

अलीबाबा: सिंगल डे सेल्स की शुरुआती 9 घंटे में ही की 16 खरब की बिक्री

यदि खरीदने जा रहे है सोना, तो इन 4 बातों का रखे ध्यान

अक्टूबर माह में यात्री वाहनों की बिक्री में हुई वृद्धि