दिल्ली के निजी अस्पताल का बड़ा खुलासा, कोरोना से ठीक होने के बाद बढ़ी ये समस्यां

नई दिल्ली: कोरोना महामारी ने देशभर में भरे आतंक मचा रखा है इस बीच दिल्ली में एक प्रमुख निजी हॉस्पिटल ने शनिवार को कहा कि उसने कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों में न्यूरोलॉजिकल संबंधी दिक्कतों में वृद्धि देखी है, जिनमें मस्तिष्क में रक्तस्राव (ब्रेन हैमरेज) के इमर्जेन्सी मामले भी सम्मिलित हैं। मूलचंद हॉस्पिटल ने एक बयान में बताया कि ओपीडी में 60 फीसदी तक रोगियों में थकान, अवसाद, आत्मघाती विचार, अकेलेपन की भावना जैसी मानसिक सेहत दिक्कतें बढ़ती नजर आ रही हैं तथा इनमें से अधिकांश कोरोना से उबर चुके मरीज हैं।

हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने कहा कि कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों में यहां न्यूरोलॉजिकल संबंधी दिक्कतों की परेशान करने वाली बढ़ती संख्या देखने को मिल रही है। साथ ही बताया कि मूलचंद अस्पताल इंट्रासेरेब्रल (ब्रेन) हैमरेज के बढ़ते केसों को दर्ज कर रहा है, तथा न्यूरोसाइंस डिपार्टमेंट 50 फीसदी तक ऐसे केसों से भरा हुआ है।

वही चिकित्सकों ने ये भी कहा कि जो व्यक्ति वैश्विक महामारी में बच गए तथा जो व्यक्ति कोरोना संक्रमण की चपेट में आए थे, वो कई सप्ताहों पश्चात् सिरदर्द, चक्कर आना, थकान, याददाश्त की दिक्कत, चिंता, अवसाद, स्ट्रोक, दर्द तथा नींद संबंधी लक्षणों के साथ बड़ी संख्या में हॉस्पिटल आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि ओपीडी में 60 फीसदी तक रोगी सिरदर्द, थकान, अवसाद, आत्महत्या के विचार, अकेलेपन की भावना आदि दिक्कतों के साथ आ रहे हैं।

बुरी खबर! सड़क हादसे का शिकार हुई ये मशहूर एक्ट्रेस, मौके पर 1 दोस्त की हुई मौत

मीराबाई चानू के टोक्यो ओलिंपिक वाले इयररिंग्स पर आया अनुष्का शर्मा का दिल, जानिए वजह

जानिए आखिर क्यों सलमान खान ने हाथ जोड़कर अथिया शेट्टी से मांगी माफ़ी?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -