ऑस्कर अवार्ड जीतने वाले प्रथम अश्वेत एक्टर ने दुनिया से फेरा मुँह

एक्टर सिडनी पोइटियर का 94 वर्ष की आयु में देहांत हो गया है. उन्हें लिली ऑफ़ द फील्ड में अपने किरदार के लिए बेस्टर अभिनेता का ऑस्कर अवार्ड से भी नवाजा जा चूका है. ऑस्कर अवार्ड जीतने वाले वह  प्रथम ब्लैक अभिनेता थे. उन्होंने नस्लीय बाधाओं  को भी तोड़ चुके है, और नागरिक अधिकार आंदोलन के बीच एक पीढ़ी को इंस्पायर किया. विदेश मंत्रालय के एक्टिंग जनरल डायरेक्टर यूजीन टोरचोन-न्यूरी ने पोइटियर के निधन की पुष्टि कर चुके है.

सिडनी पोइटियर ने साल 1967 में एक ही वर्ष  में तीन मूवी के साथ एक अपनी लीगेसी स्थापित कर दिए है. उस बीच अमेरिका के ज्यादातर हिस्सों में अराजकता फैली हुई थी. उन्होंने मूवी ‘गेस हूज़ कमिंग टू डिनर’ में एक अश्वेत शख्स का किरदार अदा किया था जिसकी मंगेतर श्वेत थी. इसमें वह एक अश्वेत पुलिस ऑफिसर वर्जिल टिब्स बने थे, जो एक कत्ल की कार्रवाई के बीच नस्लवाद का सामना करते हैं. उन्होंने उस वर्ष ‘टू सर, विद लव’ में लंदन स्कूल में एक टीचर का किरदार अदा किया था.

सिडनी पोइटियर (Sidney Poitier Award Winning Films) ने वर्ष 1963 में ‘लिली ऑफ द फील्ड’ के लिए इतिहास रचने वाले बेस्ट एक्टर का ऑस्कर का खिताब अपने नाम किया था, जिसमें उन्होंने एक अप्रेंटिस की भूमिका निभाई थी जो जर्मन नन को रेगिस्तान में एक चैपल बनाने में  सहायता करता है. इससे 5 वर्ष पहले आई ‘द डिफेंट वन्स’ में उनकी भूमिका के लिए पोइटियर को ऑस्कर के लिए नॉमिनेट  किया जा चुका था. ऑस्कर का नॉमिनेशन पाने वाले वह पहले अश्वेत एक्टर थे.

ब्लैक को छोड़ ब्लू ऑउटफिट में नज़र आई किम

अपने भाई को याद करते हुए बेला हदीद ने शेयर की पोस्ट

1 वर्ष में 4 बार मुश्किलों में फसी ब्रिटनी स्पीयर्स

 

Most Popular

- Sponsored Advert -