Sleeping Pills लेना आपके सेहत के लिए जानलेवा साबित हो सा सकता है, जाने इसके साइड इफेक्ट्स

क्या आप भी स्लीपिंग पिल्स लेने के आदि है तो ये आपके स्वस्थ के लिए हानिकारक हो सकता है  क्यूकि यह ना तो किसी भी तरीके से फायदेमंद है और ना ही सेहत के लिए अच्छा।  स्लिपिंग पिल लेना आपके लिए कुछ समय तक असरकारक और नींद से जुड़ी परेशानियां दूर करनेवाला हो सकता है। लेकिन इन्हें लेने से पहले जरूरी है कि आप इनके बारे में कुछ जरूरी बातें जान लें, जो आपकी सेहत से सीधेतौर पर जुड़ी हैं। अधिकांश नींद की गोलियों को सेडेटिव हिपनॉटिक्स के रूप में जाना जाता है। यानी नींद को सम्मोहित करनेवाले तत्वों का मिश्रण।

ये बात ध्यान देने योग्य है कि यह दवाइयों या ड्रग्स की दुनिया में एक अलग कैटिगरी है, जिसका उपयोग नींद को बढ़ाने और बनाए रखने के लिए किया जाता है। इन सेडेटिव हिपनॉटिक्स में बेंजोडायजेपाइन, बार्बिटूरेट्स और विभिन्न हिपनॉटिक्स शामिल होते हैं। बेंजोडायजेपाइन के सेवन से व्यक्ति को उनींदापन यानी हर समय ड्राउजीनेस फील होती है। अधिक समय तक स्लिपिंग पिल्स लेने से हाथ की हथेलियों में जलन या कंपन्न महसूस हो सकता है। सिर्फ हथेलियों में नहीं ऐसी दिक्कत हाथों, पैरों या तलुओं में भी महसूस हो सकती है।



भूख अनियमित हो सकती है। पेट खराब रह सकता है या कब्ज की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। कई बार डायरिया का कारण भी ये दवाइयां बन जाती हैं।लंबे समय तक नींद की गोलियां लेने से शरीर पर नियंत्रण कई बार अचानक खो जाता है। ऐसे लोगों को लगातार नींद आने जैसा अहसास होता रहता है। गला सूखना, गैस बनना, सिर में दर्द रहना, सीने में जलन होना, यादाश्त पर कम या ज्यादा असर होना, पेट में दर्द या मरोड़ होना, शरीर के किसी हिस्से में कंपन्न होना और उस पर नियंत्रण ना कर पाना। कमजोरी महसूस होना और बेकार के सपने आते रहना।

सुबह सुबह कॉफ़ी पीने के ये होते है स्वस्थ लाभ

E - Cigarette क्यों हुई भारत में बैन, जाने इससे जुडी जानकारी यहाँ

तेजी से घटाना है वजन तो सुबह उठकर करे ये काम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -