पंजाब : शिकायत के निपटारे को लेकर जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने बोली यह बात

पंजाब के अमृतसर में श्री अकाल तख्त साहिब के सचिवालय में शिकायतों के आ रहे सैलाब पर जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है. जत्थेदार ने कहा है कि शिकायतकर्ता श्री अकाल तख्त में आने से पहले शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की धर्म प्रचार कमेटी के पास शिकायत लेकर जाएं.

दीपावली के मौके पर इन शिल्पियों की मांग बढ़ने के आसार

इस मामले को लेकर जत्थेदार के अनुसार पिछले कुछ समय यह रुझान शुरू हो गया है कि कुछ व्यक्ति या संगठन किसी भी मामले को लेकर श्री अकाल तख्त में शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं. इनमें से अधिकतर शिकायतों का संबंध श्री अकाल तख्त साहिब से नहीं होता.अधिकतर शिकायतकर्ता अखबारों में समाचार प्रकाशित करने या सोशल मीडिया में वीडियो डालने के लिए ही शिकायत करते हैं. ऐसे में लोग अपनी शिकायत पहले एसजीपीसी के धर्म प्रचार कमेटी को भेजे, उसके बाद जरूरत पड़ने पर मामला श्री अकाल तख्त साहिब पहुंचे.

कोरोना वैक्‍सीन को लेकर मिली बड़ी सफलता, टेस्ट हुआ कामयाब

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने मीडिया से बातचीत में बताया कि श्री अकाल तख्त साहिब कोई थाना या शिकायत निवारण केंद्र नहीं है. बीते कुछ समय से श्री अकाल तख्त को कुछ ऐसे मुद्दों में उलझाया जा रहा है, जिनका श्री अकाल तख्त से कोई वास्ता नहीं होता. वही, उन्होने कहा कि जिन पंथक मुद्दों को सिख विद्वानों के बीच विचार के लिए रखना चाहिए, उन मुद्दों पर आम लोग सोशल मीडिया में चर्चा कर पंथक विचारधारा पर चोट कर रहे हैं. एक सवाल के जवाब में जत्थेदार ने कहा कि हैरानी की बात है कि सरकार लोगों के गुरुघरों और अन्य धार्मिक अस्थानों में नतमस्तक होने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की बात करती है, लेकिन शराब के ठेकों पर चुप्पी साधे है.

तड़के सुबह ट्रक की टक्कर से 24 मजदूरों ने गंवाई जान, सीएम योगी ने कही यह बात

इन राज्यों में प्रवासी मजदूरों की ट्रेन को नहीं मिली अनुमति

औरैया हादसा: 15 मजदूरों की मौत पर भड़के अखिलेश, बोले- ये हादसा नहीं, हत्या है

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -