श्रमिकों की हुई घर वापसी, रतलाम, खंडवा और मेघनगर पहुंची स्पेशल ट्रेनें

कोरोना की रोकथाम के लिए लॉकडाउन की अवधि का बढ़ाया गया है. इसके चलते कई दूसरे राज्यों में मजदूर फंस गए है. वहीं, लॉकडाउन में महाराष्ट्र-गुजरात में फंसे करीब साढ़े 3 हजार मजदूरों को लेकर रविवार को भी रतलाम, खंडवा और मेघनगर में स्पेशल ट्रेनें पहुंचीं. रतलाम में ऐसे श्रमिक भी आ गए, जिनके जिलों से बसें नहीं आई थीं. स्थानीय स्तर पर प्रशासन ने इंतजाम कर उन्हें रवाना किया. महाराष्ट्र-गुजरात से प्रदेश के 5 हजार श्रमिकों को वापस लाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन का रतलाम आना जारी है. शुक्रवार से शुरुआत के बाद तीसरी ट्रेन रविवार को गुजरात के राजकोट व मोरवी से 1143 श्रमिकों को लेकर आई.

हालांकि स्टेशन पर उतारने, खान-पान सहित मेडिकल जांच की व्यवस्था जिला प्रशासन ने की थी. प्रशासन द्वारा क्षेत्रीय परिवहन विभाग के माध्यम से बसों के इंतजाम किए गए है. इसके बाद अलग-अलग जिलों से बसें मजदूर को लेने पहुंची. मंदसौर, नीमच और रतलाम जिले के मजदूरों का नंबर नहीं था, फिर भी वे आ गए थे.

बता दें की खंडवा में औरंगाबाद से मजदूरों को लेकर ट्रेन आई. इसमें खंडवा के 883 और बुरहानपुर के 68 व अन्य जिले के श्रमिक सहित कुल 1170 प्रवासी मजदूर आए.

जबलपुर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी, 41 दिन के शिशु समेत 12 नए केस आए सामने

साल के 365 दिन 'लॉकडाउन' में रहता है पश्चिम बंगाल का ये गाँव, बांग्लादेशी अपराधी मचाते हैं आतंक

यूपी में आंधी-तूफ़ान ने बरपाया कहर, 46 लोगों की मौत, सीएम योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -