श्राद्ध के समय आने वाला कौवा देता है शुभ-अशुभ संकेत, ऐसे लगाए पता

Sep 12 2019 04:20 PM
श्राद्ध के समय आने वाला कौवा देता है शुभ-अशुभ संकेत, ऐसे लगाए पता

13 सितंबर से श्राद्ध शुरू हो रहे हैं. ऐसे में इस दौरान सभी अपने अपने पितरो को प्रसन्न करने की कोशिश करता है. कहा जाता है यह शुभ समय साल में एक ही बार आता है और इस समय किए गये दान से आपकी सभी मनोकामनाएं भी पूरी हो जाती है. इसी के साथ आपको पता हो कि इस समय पितृजन कौवो के रूप में भोजन करने आते है लेकिन इसके साथ ही वे आपकी जिन्दगी में आने वाले शुभ और अशुभ चीजो से आपको सावधान भी करवाते है. जी हाँ, अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं उन शुभ और अशुभ संकेतो के बारे में जो श्राद्ध के समय पितृजन देने आते है .


* कहते हैं इस दौरान अगर कोई कौवा आपके घर के पास अपनी चोंच में फूल या पतियाँ लेकर दिखाई देता है तो इसका मतलब ये होता है कि आपके मन में जो भी इच्छाएं है सभी जल्द पूरी हो जाएंगी.


अगर श्राद्ध के समय गाय की पीठ पर कोई कौवा बैठा दिखाई देता है तो इसका मतलब होता है कि आपको बहुत जल्द धन मिलने वाला है .वहीं अगर कौवा ऊंट की पीठ पर बैठा मिले तो यात्रा कुशल होती है और यदि कौआ धूल में लोटपोट होता दिखाई दें , तो उस स्थान में वर्षा होने वाली होती है.


* कहते हैं श्राद्ध के समय अगर कौवा आपको अनाज के ढेर पर बैठा मिले तो आपको जीवन भर अन्न की कोई कमी नही होगी और साथ ही आपको कहीं से धन लाभ होने वाला है.

* श्राद्ध के समय अगर कोई कौवा आपके घर की छत पर आकर बैठ जाता है तो समझ जाए कि आपके घर कोई मेहमान आने वाला है. 

* इसी के साथ अगर कौवा बाई तरफ से आकर आपके भोग को ग्रहण करता है तो इससे यात्रा आरामदायक सफल होती है. कहते हैं श्राद्ध के समय अगर कौवा सामने से आकर भोग ग्रहण करे और अपने पैर से सर खुजलाएं तो आपके रुके हुए सभी कार्य सफल होते है और इसी के साथ अगर कौवा भोग खाकर कुंए की ताल पर जाकर बैठ जाए तो आपकी कोई खोई चीज वापस मिलने वाली है.

इस वजह से गया में श्राद्ध करने पर पूर्वजों को मिलता है मोक्ष, जानिए कथा

13 सितंबर से शुरू हो रहे हैं श्राद्ध पितृ पक्ष, जानिए कब होंगे खत्म