जानिए क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कुछ खास बातें

जानिए क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कुछ खास बातें

credit card लॉन्च करने वाली कंपनी शुरू में नए कार्ड आवेदकों को कम क्रेडिट लिमिट को मंजूरी दी है. जिसके उपरांत कार्डधारक के रीपेमेंट और इनकम ग्रोथ को देखते हुए क्रेडिट लिमिट बढ़ाने का फैसला किया जा रहा है. हालांकि, हाई क्रेडिट लिमिट के प्रस्तावों को स्वीकार करने से अधिक खर्च करने के उपरांत लोन के जाल में फंसने का डर लगा रहता है. आइए जानते हैं कि क्रेडिट लिमिट बढ़ाने की लाभ और हानि.

क्रेडिट स्कोर में हो सकता है सुधार: क्रेडिट ब्यूरो आपके क्रेडिट स्कोर की गणना करते वक़्त आपके क्रेडिट इस्तेमाल अनुपात को देखते हैं. यह अनुपात एक कार्डधारक द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली कुल क्रेडिट लिमिट का अनुपात है. आम तौर पर credit card कंपनियां CUR को 30 प्रतिशत से अधिक के स्तर पर होने पर कर्ज का संकेत मानते हैं. इसलिए क्रेडिट लिमिट बढ़ाने से आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार देखने को मिल सकता है. Paisabazaar.Com के निदेशक साहिल अरोड़ा ने बोला कि यदि आपके मौजूदा credit card कंपनी आपके credit card की सीमा को बढ़ाने से मना करते हैं, तो अन्य कार्ड जारी करने वालों से अतिरिक्त credit card के लिए आवेदन करना होगा.

उदाहरण के लिए, मान लें कि आपके credit card की लिमिट 1 लाख रुपये है और आप आमतौर पर प्रत्येक माह लगभग 50 हजार खर्च करते है. तो ऐसे में आपका CUR 50 प्रतिशत होगा. अब यदि आपका जारीकर्ता आपकी क्रेडिट सीमा बढ़ाकर 1.7 लाख रुपये कर दिया जाता है, तो आपका CUR 29 प्रतिहस्त पर आ जाएगा. इसी तरह यदि आप 70 हजार रुपये की क्रेडिट लिमिट के साथ एक अतिरिक्त credit card  भी रख सकते है, तो आपको CUR पर समान प्रभाव देखने को मिलेगा.

वित्तीय संकट से निपटने में सहूलियत: क्रेडिट लिमिट बढ़ने पर वित्तीय संकट से निपटने में सहूलियत होती है. यह नौकरी छूटने, बीमारी, दुर्घटना, विकलांगता आदि वित्तीय संकट के कारण इमरजेंसी फंड के रूप में काम कर सकती है.

ज्यादा लोन मिलने की संभावना: एक बढ़ी हुई क्रेडिट लिमिट आपको ज्यादा लोन दिला सकती है. यह लिमिट आमतौर पर credit cardधारक की क्रेडिट लिमिट के बदले स्वीकृत होते हैं. आमतौर पर credit card के बदले लोन प्री-अप्रूव्ड होते हैं.

कर्ज के जाल में फंसने का डर: एक बढ़ी हुई credit card लिमिट के बाद आप अधिक खर्च कर सकते है, लेकिन अगर इसका यूज समझदारी नहीं किया तो कर्ज के जाल में फंस सकते हैं.

ज्यादा ब्याज चुकाना पड़ सकता है: यदि आप प्रत्येक माह अपने बिल का पेमेंट नहीं करते हैं, तो आप अपनी बकाया राशि पर ज्यादा ब्याज चुकाना पड़ सकता है.

शाहरुख खान की 'पठान' के लिए मेकर्स ने उठाया बड़ा कदम, यहां शूट होंगे एक्शन सीन

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन सहित राज्य मंत्रिमंडल अल्जाइमर रोग से है पीड़ित: रमेश चेन्निथला

सलमान खान ने क्लिक की 2021 की सबसे बड़ी सेल्फी, एक फोटो में नजर आए 15 बड़े स्टार्स