लड़कियों के रेप से परेशान होकर इस डायरेक्टर ने छोड़ दी माँ काली की पूजा करना

कठुआ गैंगरेप के बाद से ही सभी ओर बस महिलाओं की सुरक्षा को लेकर ही चर्चाएं हो रही है. आम जनता से लेकर बॉलीवुड सेलिब्रिटीज तक सभी लोग मासूम पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए प्रदर्शन कर रहे है. इन प्रदर्शनकारियों की सूची में अब बॉलीवुड डायरेक्टर सुजीत सरकार का नाम भी जुड़ गया है. गैंगरेप से दुखी होकर सुजीत ने हाल ही में एक बड़ा फैसला लिया हैं.

सुजीत बंगाल के रहने वाले हैं और वो हर साल माँ काली की पूजा-आराधना बड़े ही धूमधाम से करते हैं. लेकिन इस बार सुजीत ने तब तक काली की पूजा ना करने की बात कही है जब तक महिलाएं सशक्त न हो जाए. सुजीत ने हाल ही में एक ट्वीट किया है जिसमे उन्होंने लिखा है कि- 'मां दुर्गा मां काली आप हर साल आती और जाती हैं. लेकिन इस साल मैं विरोध के तौर पर तब तक आपकी पूजा नहीं करूंगा, जब तक निहत्थी छोटी बच्च‍ियों को आपके जैसे 10 हाथ नहीं मिल जाते हैं. आप देख नहीं सकती कि किस तरह उन्होंने बच्ची का निर्ममता से रेप किया और मारा. आप कहां हैं? मैं विरोध करता हूं.'

आपको बता दें सुजीत अधिकतर फ़िल्में भी महिलाओं से सम्बंधित मुद्दों पर ही बनाते हैं. उन्होंने कुछ साल पहले ही पिंक फिल्म बनाई थी जो महिलाओं के साथ हो रहे यौन शोषण के मुद्दे पर आधारित थी. इस फिल्म का एक डायलॉग 'नो मतलब नो' भी काफी ज्यादा पॉप्युलर हुआ था. पिंक फिल्म में तापसी पन्नू, कीर्ति कुल्हारी और अमिताभ बच्चन मुख्य किरदार में नजर आए थे.

आतंकवादी पर बनी फिल्म ''ओमेर्टा' इन कारणों से हो सकती है लेट

क्या.... चुपके से अभिषेक का फोन चेक करती हैं ऐश्वर्या?

कॉमेडी का मसालेदार तड़का लगाने को तैयार है 'हाईजैक'

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -