कोरोना संक्रमित बुजुर्ग के लिए नहीं मिली एंबुलेंस, कचरा गाडी में ले जाना पड़ा शव

Apr 11 2021 01:58 PM
कोरोना संक्रमित बुजुर्ग के लिए नहीं मिली एंबुलेंस, कचरा गाडी में ले जाना पड़ा शव

मुंबई: महाराष्‍ट्र में कोरोना संकट बढ़ चुका है। ऐसे में मौतों का आंकड़ा भी दिन पर दिन बढ़ता चला जा रहा है। इसी के चलते राज्‍य में लॉकडाउन लगाने संबंधी निर्णय को लेकर चर्चाएं तेज हो चुकी है। अब इन सभी के बीच राज्‍य से मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। इस घटना को महाराष्‍ट्र के धुले का बताया जा रहा है जिसमे प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। जी दरअसल धुले में एक 70 साल के बुजुर्ग के शव को कचरे वाले वाहन में लाना पड़ा। हुआ यूँ की बुजुर्ग को बीते दिनों ही कोरोना संक्रमण हो गया था।

उसके चलते उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। बीते शुक्रवार को वह अस्‍पताल से वापस घर आए थे लेकिन उसी दिन ही घर पर उनकी मौत हो गई। अब इस मामले में पीड़ित परिवार का कहना है कि उनकी ओर से बुजुर्ग का शव गांव से ले जाने के लिए प्रशासन से एंबुलेंस की मांग की गई थी, लेकिन करीब दस घंटे इंतजार करने के बाद भी एंबुलेंस नहीं आई। अंत में मज़बूरीवश बुजुर्ग के शव को कचरे की गाड़ी में अंतिम संस्‍कार के लिए ले जाया गया है। प्रशासन की इस लापरवाही की कहानी अब तेजी से वायरल हो रही है।

आपको हम यह भी बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते हालात चिंताजनक बने हुए हैं। यहां बीते शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 55,411 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 33,43,951 पहुंच चुकी है। इसके अलावा संक्रमण से एक दिन में 309 लोगों की मौत होने से कुल मृतक संख्या 57,638 हो चुकी है। जी दरअसल राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि महाराष्ट्र में इस समय 5,36,682 संक्रमितों का उपचार चल रहा है।

सुशांत सिंह राजपूत को भुला रही है रिया चक्रवर्ती, शेयर की ये पोस्ट

24 घंटे में बिगड़े कोरोना से ओडिशा के हाल, सामने आए 1300 से ज्यादा मामले

वर्जिनिटी टेस्ट में फ़ैल हुई दो बहने तो मिला तलाक, थाने पहुंचा मामला