मुस्लिम तुष्टिकरण की राह पर ना चले जैन समुदाय : सामना

Sep 10 2015 11:38 AM
मुस्लिम तुष्टिकरण की राह पर ना चले जैन समुदाय : सामना

मुंबई : पर्युषण पर्व को लेकर मुंबई के कुछ क्षेत्रों में मांस विक्रय को प्रतिबंधित कर दिया गया था, जिसके कारण बवाल मच गया था, इस मामले में कुछ नेताओं ने मांस विक्रय को प्रतिबंधित न करने की मांग की थी। अब इस मामले में शिव सेना ने अपने तेवर कड़े कर लिए है. शिव सेना ने जैन समुदाय को मांस बैन का जिम्मेदार ठहराकर उन पर बड़ा हमला बोला है. शिवसेना के मुखपत्र सामना में जैन समुदाय को चेतावनी दी गई है कि वह मुस्लिम तुष्टिकरण की राह पर ना चले. शिवसेना ने जैन समुदाय पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह धर्म के नाम पर शाकाहार को सभी लोगों पर थोप रहा है.

गौरतलब है कि जैन समाज के पर्व पर्यूषण के दौरान मीट बिक्री पर बैन लगाया गया है. गौरतलब है कि शिवसेना इस मामले का पहले से ही विरोध कर रही है. शिवसेना द्वारा कहा गया है कि यह तय किया जाएगा कि इस तरह का प्रतिबंध लागू न हो. शिवसेना द्वारा विपक्षी दल कांग्रेस और एनसीबी की मांग का विरोध किया गया है.

दरअसल नवी मुंबई नगर निगम में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी काबिज है. इस दल ने 17 सितंबर तक मीट सेलिंग पर बैन लगा रखा था. दरअसल इस अवधि में पर्यूषण पर्व मनाया जा रहा है, जिसके कारण मांस की बिक्री रोकने की घोषणा की गई. इस मामले में कांग्रेस ने भी विरोध जताया। जिसके बाद शिवसेना भी विरोध में सक्रिय हो गई.