पहले अकाल प्रभावितों की मदद करें सरकार, फिर करें बाकी मुद्दों पर चर्चा

मुंबई : महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने एक बार फिर से पीएम नरेंद्र मोदी पर वार किया है। पार्टी ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि बीजेपी और केंद्र में बैठी सरकार जनता की अनदेखी कर रही है। सामना के संपादकीय में लिखा है कि सारे मामलों पर चर्चा बाद में की जाए, पहले महाराष्ट्र के अकाल पीड़ितों की ओर ध्यान दिया जाए।

शिवसेना ने कहा है कि मोदी सरकार पीएम की डिग्री दिखाने और अगस्ता डील में हुए भ्रष्टाचार को छोड़कर अकाल पीड़ितों की मदद पर गौर फरमाए। राज्य सरकार ने सुखा से लड़ने के लिए जो केंद्र से 10,000 करोड़ रुपए की मांग की है, केंद्र पहले उसे अमल में लाए।

सामना में लिखा गया है कि 5000 टैंकरों से पानी की सप्लाई की जा रही है। इनमें से 3000 टैंकर मराठवाड़ा में है। शिवसेना का कहना है कि इससे अकालग्रस्त राज्य टैंकरग्रस्त हो गया है, जो एक प्रगतिशील राज्य के लिए सही नहीं है।

पार्टी ने केंद्र सरकार से राज्य के अधूरे बांधों को पूरा करने के लिए योजनाओं में मदद करने की अपील की है और कहा है कि केंद्र सरकार राज्य को एक लाख करोड़ रुपए का पैकेज देकर मदद करे। शिवसेना ने कहा है कि मुंबई जैसी महानगरपालिका देश को 2 लाख करोड़ रुपए सालाना देती है, उसका आधा यदि राज्य को दे दिया जाए, तो भयंकर तस्वीर सहज ही बदल जाएगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -