मीट विक्रय पर शिवसेना ने भी दिखाए विरोधी तेवर

मुंबई : पर्युषण पर्व को लेकर मुंबई के कुछ क्षेत्रों में मांस विक्रय को प्रतिबंधित कर दिया गया था। जिसके कारण बवाल मच गया था। इस मामले में कुछ नेताओं ने मांस विक्रय को प्रतिबंधित न करने की मांग की थी। अब एक बार फिर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने इस मामले में कहा है कि मांस विक्रय पर प्रतिबंध स्वीकार नहीं किया जा सकता। शिवसेना द्वारा कहा गया है कि यह तय किया जाएगा कि इस तरह का प्रतिबंध लागू न हो। 

शिवसेना द्वारा विपक्षी दल कांग्रेस और एनसीबी की मांग का विरोध किया गया है। दरअसल नवी मुंबई नगर निगम में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी काबिज है। इस दल ने 17 सितंबर तक मीट सेलिंग पर बैन लगा रखा था। दरअसल इस अवधि में पर्यूषण पर्व मनाया जा रहा है। जिसके कारण मांस की बिक्री रोकने की घोषणा की गई। इस मामले में कांग्रेस ने भी विरोध जताया। जिसके बाद शिवसेना भी विरोध में सक्रिय हो गई।

शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे यह तय करेंगे कि 8 दिनों तक मांस विक्रय पर प्रतिबंध न लगे। उल्लेखनीय है कि मुंबई महानगर पालिका में शिवसेना प्रभुत्व में है और राज्य में वह भाजपा के साथ गठबंधन में काबिज है। माना जा रहा है कि शिवसेना यह तय करने में जुटी है कि मुंबई में भयांदर और अन्य क्षेत्रों में मांस विक्रय पर प्रतिबंध न लगे क्योंकि बड़े पैमाने पर यहां लोग मांस क्रय करते हैं। यह मांस विक्रेताओं के रोजगार से भी जुड़ा है और पर्यूषण पर्व को लेकर कोई वैकल्पिक व्यवस्था की जा सकती है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -