शिवसेना ने सामना में लिखा, भारत दौरे से पहले ट्रंप ने दिया ये बड़ा झटका

शिवसेना ने सामना में लिखा, भारत दौरे से पहले ट्रंप ने दिया ये बड़ा झटका

मुंबई: शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के माध्यम से अमेरिका (US) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले अमेरिका द्वारा भारत को विकासशील सूची से हटा देने के निर्णय की आलोचना की है. शिवसेना का कहना है कि यह कदम भारतीय इकॉनमी के लिए बड़ा झटका है. शिवसेना ने लिखा है कि, 'विकासशील देश होने के नाते हिंदुस्तान को आज तक अपने उत्पादन और एक्सपोर्ट के लिए अमेरिका से टैक्स में बड़ी रियायत मिलती थी, किन्तु अब हिंदुस्तान के अमेरिकी व्यापार को जबरदस्त झटका लगा है.'

शिवसेना ने लिखा है कि, ' विश्व व्यापार संगठन के कंधे पर बंदूक रखकर अमेरिका की व्यापार प्रतिनिधि समिति (USTR) ने विकासशील देशों की सूची से भारत का नाम अलग कर दिया है. इसे हिंदुस्तान के लिए तगड़ा आर्थिक झटका कहा जा सकता है. विकासशील देश होने के नाते हिंदुस्तान को आज तक अपने उत्पादन और निर्यात के लिए अमेरिका से टैक्स में बड़ी रियायत मिला करती थी.' शिवसेना ने आगे लिखा है कि, 'अमेरिका से टैक्स में सब्सिडी मिलने के दरवाजे बंद होने की वजह से कई वस्तुओं के निर्यात हेतु हिंदुस्तान को भारी रकम खर्च करनी पड़ेगी. केवल अमेरिका ही नहीं बल्कि भारत के सारे वैश्विक व्यापारियों को भी इसका दुष्परिणाम भोगना होगा.' 

सम्पादकीय में लिखा है कि, 'विकासशील देशों को विश्व व्यापार संगठन (WTO) व्यापार वृद्धि के लिए सब्सिडी या सहूलियत देता है. ये सहूलियतें अमेरिकी राष्ट्रपति की आंखों की किरकिरी बनी हुई थीं. इसीलिए भारत, चीन और दक्षिण कोरिया समेत कई देशों को विकासशील देशों की फेहरिस्त से अमेरिका ने बाहर कर दिया है. इस कड़े फैसले के लिए ट्रंप प्रशासन द्वारा भारत दौरे का मुहूर्त चुनना बड़ा धक्कादायक है.' 

कोरोना वायरस से चीन में हाहाकार, मरने वालों की संख्या 1600 के पार

पकिस्तान का बड़ा खुलासा, FATF की बैठक के बाद आतंकी हाफिज सईद होगा रिहा

छत्तीसगढ़ महिला विधायक ने IPS को दी धमकी, कहा- 'औकात न दिखाएं..'