जिन्हे मध्य प्रदेश की तारीफ से तकलीफ हो, वो राज्य छोड़ दें - भाजपा

जिन्हे मध्य प्रदेश की तारीफ से तकलीफ हो, वो राज्य छोड़ दें - भाजपा

भोपाल: राजनीति में जितनी चर्चा राजनेताओं के काम की नहीं होती है, उससे ज्यादा उनके बयानों की होती है. नेता पक्ष का हो या विपक्ष का, दोनों एक-दूसरे के बयानों को बिल्कुल कान लगाकर सुनते हैं, कि कब उन्हें मौका मिले और वो सम्बंधित नेता पर पलटवार करें. कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का ऐसा ही एक बयान चर्चा में आया था, जिसमे उन्होंने अपनी अमेरिकी यात्रा के दौरान इंदौर की सड़कों की तारीफ़ की थी.

भीमा-कोरेगांव हिंसा मामला : राजनाथ सिंह बोले लोकतंत्र में बोलने की आजादी है, देश तोड़ने की नहीं

शिवराज सिंह ने कहा था कि इंदौर की सड़कें, अमेरिका की सड़कों से बेहतर हैं, शिवराज के इस बयान पर काफी घमासान मचा था और आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए विपक्ष अभी भी उस बयान को भुनाने में लगा हुआ है. अब शायद शिवराज, मध्य प्रदेश के प्रेमपाश में बंधे होने के कारण ऐसा कह गए हों या फिर ये हो सकता है कि उन्हें राज्य की स्थिति का ज्ञान ही न हो. अब जब विपक्ष शिवराज पर निशाना साध रही है, तो बीजेपी कैसे चुप रह सकती है, इसलिए अब लोक निर्माण मंत्री और भाजपा नेता रामपाल सिंह, शिवराज के बचाव में उतर आए हैं, उन्होंने विपक्ष को घेरते हुए कहा है कि जिन्हे मध्य प्रदेश की तारीफ से दिक्कत है, वे राज्य छोड़ कर चले जाएं.

मेहुल चौकसी को भारत ने नहीं दी कोई क्लीनचिट :CBI

रामपाल सिंह ने कहा कि राज्य की तरफ करना कोई गलत बात नहीं है, आप इंदौर एयरपोर्ट के रोड की तस्वीर लीजिए और अमेरिका के रोड की तस्वीर लीजिये आपको पता चल जाएगा और इसके बाद भी अगर किसी को ये बात गलत लगती है तो वह राज्य छोड़ कर जा सकता है. उन्होंने इस मुद्दे पर राज्य की पूर्व दिग्गी सरकार पर भी जमकर हमला बोला, उन्होंने कहा कि कांग्रेस की दिग्विजय सिंह सरकार ने राज्य के लिए क्या किया था, मध्य पदेश में सड़कें गड्ढों में तब्दील हो गई थी, लेकिन पिछले 15 सालों में शिवराज के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने न सिर्फ सड़कों का बल्कि पुरे राज्य का कायाकल्प किया है और प्रदेश की जनता ये जानती है, इसलिए आगामी विधानसभा चुनाव में जनता ही इसका जवाब देगी. 

खबरें और भी:-​

कारगिल चुनाव : बीजेपी का पहली बार खुला खाता, जानें किस पार्टी को बहुमत मिला

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह: ममता ने किया 2020 तक कुपोषण ख़त्म करने का दावा, पर कुछ और ही कहते हैं आंकड़े

इस संगीतकार ने मुनि तरुण सागर पर की थी अभद्र टिप्पणी


 

?