यहाँ निवेशकों की जरूरतें होंगी पूरी : शिवराज

यहाँ निवेशकों की जरूरतें होंगी पूरी : शिवराज

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों जापान की यात्रा पर हैं। उन्होंने यात्रा के तीसरे दिन गुरुवार को टोक्यो में जापान के उप प्रधानमंत्री तारो असो से मुलाकात की और एक बैठक में हिस्सा लिया। इस मौके पर निवेशकों को भरोसा दिलाया कि उन्हें मध्य प्रदेश में वह सब मिलेगा जिसकी उन्हें जरूरत है। साथ ही अपने को राज्य का सीईओ (मुख्य कार्यपालन अधिकारी) भी बताया। राज्य सरकार के जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी किए गए आधिकारिक बयान में बताया गया है कि चौहान ने जापान के उप प्रधानमंत्री से जापान और भारत के बीच अधिकाधिक व्यापारिक सहयोग का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इससे द्विपक्षीय व्यापार को प्रोत्साहन मिलेगा। उप प्रधानमंत्री असो ने बताया कि जापान के छोटे और मध्यम उद्यम बड़ी संख्या में भारत में निवेश को उत्साहित है।

चौहान ने तारो आसो को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट -2016 के लिए आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री चौहान ने भारत-जापान व्यापार सहयोग समिति की 40वीं संयुक्त बैठक को संबोधित करते जापान के संभावित निवेशकों और लोगों को मध्यप्रदेश आमंत्रित किया। इसके अलावा चौहान ने कई महत्वपूर्ण बैठकों में भाग लिया। उन्होंने प्रसिद्घ कंपनियों के प्रमुखों से मुलाकात की और निवेश संभावनाओं और योजनाओं के संबंध में उपयोगी विचार-विमर्श किया। इस मौके पर चौहान ने राज्य की सड़कों और बिजली की उपलब्धता का ब्योरा देते हुए अपने दस वर्ष के कार्यकाल की उपलब्धियां भी गिनाई। चौहान ने राज्य में कम लागत की आवासीय इकाइयों और सेनिटेशन के संबंध में लिक्सिर कारपोरेशन के उपाध्यक्ष रुइचि कवामोटो के साथ विचार-विमर्श करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में अगले तीन साल में 15 लाख सर्वसुविधायुक्त आवासीय इकाइयों का निर्माण किया जाएगा।

सीवेज सिस्टम भी विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने मायेकावा मैन्यूफेक्च रिंग के अध्यक्ष तनाका से मुलाकात की और प्याज, आलू और मछलियों के वैज्ञानिक भंडारण के लिए कोल्ड स्टोरेज की स्थापना की संभावनाओं पर चर्चा की। चौहान ने फूजी इलेक्ट्रिक के कार्यकारी उपाध्यक्ष याशिको ओकुनो के साथ सहयोग के विभिन्न क्षेत्रों पर चर्चा की और बिजली उपकरणों के उत्पादन के क्षेत्र में सहयोग के लिए आमंत्रित किया। साथ ही उन्होंने स्मार्ट शहरों के लिए भी प्रौद्योगिकी उपलब्ध करवाने में सहयोग का आग्रह किया। मुख्यमंत्री चौहान ने केबल निर्माण क्षेत्र में निवेश के बारे में फुरूकावा इलेक्ट्रिक के शीर्ष अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया।

अधिकारियों ने बताया कि कंपनी मध्य प्रदेश में संयुक्त रूप से केबल उत्पादन की संभावनाओं के अध्ययन की योजना बना रही है। मुख्यमंत्री ने इलेक्ट्रनिक निर्माता कंपनी एनआईडीसीई कारपोरेशन के शीर्ष अधिकारियों से चर्चा में बताया कि जापान के निवेशकों के लिए विशेष क्लस्टर धार जिले में पीथमपुर में स्थापित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने मिजुहो बैंक के अधिकारियों से मुलाकात कर उन्हें मध्य प्रदेश में अपनी शाखा खोलने के लिए आमंत्रित किया। चौहान ने अक्षय ऊर्जा के विकास की संभावनाओं पर सट बैंक के सीईओ मासायोशी सोन के साथ चर्चा में इस क्षेत्र में निवेश की असीम संभावनाओं को रेखांकित किया।

मुख्यमंत्री ने पवन ऊर्जा के क्षेत्र में मध्यप्रदेश के साथ सहयोग करने के लिए नवकरणीय ऊर्जा और औद्योगिक प्रौद्योगिकी विकास संगठन (एनईडीओ) को भी आमंत्रित किया। चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा द्वारा की गई सकारात्मक पहल से भारत के बारे में निवेशकों की धारणा बदली है। उन्होंने कहा कि भारत अब अनिर्णय और निराशा के अंधेरे से बाहर आ गया है। मोदी के नेतृत्व में भारत विदेशी पूंजी निवेश के आदर्श स्थल के रूप में उभरा है।(आईएएनएस)